0 अब बच्चों में संक्रमण की चिंता: केजरीवाल ने केंद्र से कहा- सिंगापुर में आया कोरोना का नया रूप बच्चों के लिए खतरनाक, वहां की हवाई सेवाएं तुरंत रोकी जाएं - कालचक्र

अब बच्चों में संक्रमण की चिंता: केजरीवाल ने केंद्र से कहा- सिंगापुर में आया कोरोना का नया रूप बच्चों के लिए खतरनाक, वहां की हवाई सेवाएं तुरंत रोकी जाएं

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

देश में कोरोना की दूसरी लहर अभी हल्की भी नहीं पड़ी है कि तीसरी लहर की चिंता सताने लगी है। सबसे बड़ी फिक्र इस बात को लेकर है कि इस बार बच्चों पर ज्यादा असर पड़ने की आशंका है। ये बात एक्सपर्ट कह चुके हैं।

उधर, सिंगापुर में कोरोना को जो नया स्ट्रेन आया है, उससे वहां बच्चे ही सबसे ज्यादा संक्रमित हो रहे हैं। ऐसे में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से अपील की है कि सिंगापुर के साथ हवाई सेवाएं तुरंत प्रभाव से रद्द कर दी जाएं और बच्चों के लिए वैक्सीन के विकल्पों पर प्राथमिकता से काम किया जाए। केजरीवाल ने सोशल मीडिया पर कहा है कि सिंगापुर में आया कोरोना का नया रूप बच्चों के लिए बेहद खतरनाक बताया जा रहा है। भारत में ये तीसरी लहर के रूप में आ सकता है।

सिंगापुर में इस स्ट्रेन से बढ़ाई चिंता
सिंगापुर में भी इस वक्त कोरोना का B.1.617 स्ट्रेन फैल रहा है। यह वही स्ट्रेन है जो पिछले साल अक्टूबर में सबसे पहले भारत में सामने आया था और यहां कोरोना की दूसरी लहर में इसी स्ट्रेन की वजह से संक्रमण ज्यादा फैल रहा है।

B.1.617 बच्चों के कितना खतरनाक, यह अभी साफ नहीं
सिंगापुर में फैल रहा कोरोना का स्ट्रेन B.1.617 बच्चों के कितना खतरनाक है, यह अभी साफ नहीं है। सिंगापुर के हेल्थ मिनिस्टर ऑन्ग ये कुंग ने रविवार को बताया कि B.1.617 स्ट्रेन बच्चों को ज्यादा संक्रमित कर रहा है। सिंगापुर में रविवार को कोरोना के 38 नए मामले सामने आए। यह मिड सितंबर के बाद एक दिन में सबसे बड़ा आंकड़ा है। इनमें एक ट्यूशन सेंटर के कई बच्चे भी शामिल हैं। हालांकि, कुंग ने बताया कि कोई भी बच्चा गंभीर रूप से बीमार नहीं है।

भारत में क्या असर होगा?
वैसे तो B.1.617 वैरिएंट भारत में पहले से ही फैल चुका है। लेकिन, अब इसके वंश का कोई ऐसा स्ट्रेन फैलता है जो कि बच्चों को ज्यादा संक्रमित करे तो स्थिति गंभीर हो सकती है। क्योंकि भारत में बच्चों के लिए अभी कोई वैक्सीन भी नहीं बनी है। दूसरी तरफ एक्सपर्ट पहले ही कह चुके हैं कि कोरोना की तीसरी लहर बच्चों के लिए ज्यादा खतरनाक हो सकती है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply