महाराष्ट्र में कोरोना: लगातार दूसरे दिन नए केस से ज्यादा मरीज रिकवर हुए, राज्य ने केंद्र से 200 मीट्रिक टन एक्स्ट्रा ऑक्सीजन मांगी

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
मुंबई के गोरेगांव में एक वैक्सीनेशन सेंटर के बाहर लंबी लाइन लगी। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान नहीं रखा गया। - Dainik Bhaskar

मुंबई के गोरेगांव में एक वैक्सीनेशन सेंटर के बाहर लंबी लाइन लगी। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान नहीं रखा गया।

कोरोना से सबसे प्रभावित राज्य महाराष्ट्र की स्थिति में अब सुधार दिख रहा है। राज्य में लगातार दूसरे दिन नए केस से ज्यादा संख्या रिकवर होने वाले मरीजों की रही। पिछले 24 घंटे के दौरान यहां 65,934 लोग ठीक हुए और 51,880 नए पॉजिटिव केस सामने आए। इससे पहले सोमवार को 59, 500 मरीज डिस्चार्ज हुए थे और 48,621 नए केस मिले थे। इस समय राज्य में रिकवरी रेट 85.96% हो गया है। अब तक कुल 48.22 लाख केस सामने आए हैं। इनमें 41.07 लाख रिकवर हो चुके हैं। फिलहाल राज्य में 6.42 लाख एक्टिव पेशेंट हैं।

केंद्र से ऑक्सीजन का कोटा बढ़ाने की मांग
महाराष्ट्र ने ऑक्सीजन की बढ़ती जरूरत का हवाला देते हुए केंद्र सरकार से लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (LMO) का कोटा बढ़ाने की मांग की है। प्रदेश के मुख्य सचिव सीताराम कुंटे ने केंद्रीय कैबिनेट सचिव राजीव गौबा को तीन मई को पत्र लिखकर ऑक्सीजन का कोटा 200 मीट्रिक टन बढ़ाए जाने की मांग की थी।

महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि गुजरात के जामनगर से इस समय 125 मीट्रिक टन और भिलाई से 130 मीट्रिक टन ऑक्सीजन रोज आ रही है। इसे बढ़ाकर 225 और 230 मीट्रिक टन किया जाना चाहिए। कुंटे ने कहा कि जामनगर और भिलाई महाराष्ट्र से काफी नजदीक हैं, इसलिए यहां से आ रही ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाई जानी चाहिए ताकि ऑक्सीजन टैंकरों पर निर्भरता कम की जा सके। इससे हमें हर रोज की मांग के मुताबिक ऑक्सीजन मिलेगा और उसका मैनेजमेंट भी आसान हो जाएगा।

संक्रमण के बढ़ते मामले के बीच एक बुजुर्ग महिला को हॉस्पिटल में ले जाते BMC के स्वास्थ्यकर्मी।

संक्रमण के बढ़ते मामले के बीच एक बुजुर्ग महिला को हॉस्पिटल में ले जाते BMC के स्वास्थ्यकर्मी।

मरने वालों की संख्या अब भी डराने वाली
राज्य में संक्रमण से मरने वालों की संख्या कम होती दिखाई नहीं दे रही है। मंगलवार को राज्य में 891 लोगों की मौत हो गई। कई दिनों से मरने वालों की संख्या 800 से ऊपर बनी हुई है। राज्य में अब तक 71,742 लोगों की मौत हो चुकी है। इस समय यहां डेथ रेट 1.41% हो गई है।

महाराष्ट्र के 15 जिलों में संक्रमण में कमी
स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि मुंबई और ठाणे सहित 15 जिलों में कोरोना के रोज आने वाले मामलों में कमी देखी जा रही है। इनमें मुंबई, धुले, नांदेड़, भंडारा, ठाणे, नासिक, लातूर, नंदुरबार, नागपुर, औरंगाबाद, अमरावती, रायगढ़, उस्मानाबाद, चंद्रपुर और गोंदिया शामिल हैं। हालांकि, सांगली, सतारा, बुलढाणा और कोल्हापुर सहित लगभग 20 जिलों में केस अब भी बढ़ रहे हैं।

जेलों में वैक्सीनेशन की रफ्तार बहुत धीमी
महाराष्ट्र की जेलों में बंद 31, 250 कैदियों में से सिर्फ 2722 कैदियों को कोरोना का टीका लगाया गया है। इनमें 1976 कैदी विचाराधीन और 746 सजायाफ्ता हैं। मुंबई, येरवडा, कोल्हापुर, अहमदनगर और अमरावती में कैदियों के लिए कोरोना केयर सेंटर बनाया गया है। जेल विभाग के मुताबिक, जालना, बीड, गढ़चिरौली, अहमदनगर, सांगली, जे-जे हॉस्पिटल प्रिजन वॉर्ड के एक भी कैदी को टीका नहीं लगा है। मुंबई सेंट्रल जेल के 242, ठाणे 277, तलोजा 82, कल्याण जेल 262, येरवडा (पुणे) 447, कोल्हापुर 403 कैदियों को वैक्सीन लगाई गई है।

मुंबई में फिर से 45 साल से ऊपर के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू हो गया है।

मुंबई में फिर से 45 साल से ऊपर के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू हो गया है।

संक्रमण रोकने के लिए औरंगाबाद में हेलमेट मुहिम
औरंगाबाद में लॉकडाउन के दौरान जरूरी काम से घर से बाहर जाने वाले बाइकसवारों के लिए हेलमेट अनिवार्य कर दिया गया है। मुंबई हाईकोर्ट की औरंगाबाद बेंच ने आदेश दिया था कि बाइक पर बाहर घूमने वालों के लिए मास्क के साथ-साथ हेलमेट भी अनिवार्य होना चाहिए। इसके बाद सहायक पुलिस आयुक्त सुरेश वानखेडे ने इसके लिए आदेश जारी कर दिया है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply