कोविड महामारी के बाद बदला मेन्यू: दुनिया के रईसों में मशहूर मैनहट्‌टन का इलेवन मैडिसन रेस्तरां अब मीट नहीं परोसेगा, हरी सब्जियों पर शिफ्ट होगा

  • Hindi News
  • International
  • Manhattan’s XI Madison Restaurant, Popular Among The World’s Nobles, Will No Longer Serve Meats, Will Shift To Green Vegetables

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक घंटा पहलेलेखक: ब्रेट एंडरसन, जेनी ग्रॉस

  • कॉपी लिंक
इलेवन मैडिसन पार्क रेस्तरां दुनिया के 50 बेस्ट रेस्तरां में से एक है। - Dainik Bhaskar

इलेवन मैडिसन पार्क रेस्तरां दुनिया के 50 बेस्ट रेस्तरां में से एक है।

दुनिया के रईसों में मशहूर मैनहट्‌टन (न्यूयॉर्क) के इलेवन मेडिसन पार्क रेस्तरां ने अपने मेन्यू में बड़ा बदलाव किया है। रेस्तरां अब मीट और सी-फूड सर्व नहीं करेगा। कोविड महामारी के बाद हाल ही में दोबारा खुले रेस्तरां ने इस बदलाव का फैसला किया है। चीफ शेफ डेनियल हम ने कहा है कि बीते 18 महीनों में हमने काफी कुछ देखा-सुना और समझा है।

मीट और सी-फूड को लेकर कई पर्यावरणविदों और सामाजिक संस्थाओं ने कहा है कि महामारी फैलने की वजहों में एक ग्लोबल फूड सिस्टम की कमजोरी और खासकर नॉनवेज भोजन से होने वाले खतरों को नजरअंदाज करना है। हालांकि मैडिसन पूरी तरह से जानवरों से मिलने वाली खाद्य सामग्री से दूर नहीं होगा। दूध, अंडे, शहद वाली चाय पहले की तरह सर्व होती रहेंगी।

डेनियल के मुताबिक, नए मेन्यू में हमारा सबसे ज्यादा फोकस हरी सब्जियों और प्राकृतिक उत्पादों पर होगा। हमें भरोसा है कि ग्राहक भी इसे पसंद करेंगे क्योंकि ये अब समय की जरुरत है। दूसरी ओर, मैडिसन पार्क के मेन्यू में हुए बदलावों पर दूसरे बड़े रेस्तरां और फूड स्टेशनों को भी ये आइडिया पसंद आया है। न्यूयॉर्क सिटी के वेज रेस्तरां डर्टी कैंडी की मालकिन अमांडा कोहेन कहती हैं, ‘हम का निर्णय महत्वपूर्ण है क्योंकि वह पहले भी संयंत्र आधारित व्यंजनों से नहीं जुड़े थे। उनका कदम हमें भी आगे की राह दिखाता है।

25 हजार रु. से शुरू होता है मैडिसन का मल्टीकोर्स मेन्यू
इलेवन मैडिसन पार्क रेस्तरां दुनिया के 50 बेस्ट रेस्तरां में से एक है। इसके मल्टीकोर्स मेन्यू की कीमत 25 हजार से शुरू होती है। मैनहट्‌टन के अलावा अमेरिका के कई शहरों और दूसरे देशों में भी इसके 40 से ज्यादा आउटलेट्स हैं। अब तक इसकी पहचान नॉनवेज के लिए होती थी।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply