अधर में लटकी स्वास्थ्य व्यवस्था: चिरंजीवी बीमा योजना से निजी अस्पतालों में दो दिन बाद भी इलाज शुरू नहीं हुआ, अस्पताल बोले- हमें गाइडलाइन हीं नहीं मिली, अधिकारियों का तर्क- दो बार मेल कर चुके

  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Chiranjeevi Bima Yojana Did Not Start Treatment In Private Hospitals Even After Two Days, The Hospital Said We Did Not Get The Guideline Only, While The Arguments Of The Officials Have Reconciled Twice.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयपुर16 घंटे पहलेलेखक: इशांत वशिष्ठ

  • कॉपी लिंक
चिरंजीवी बीमा योजना की पूरी जानकारी health.rajasthan.gov.in से ले सकते हैं। - Dainik Bhaskar

चिरंजीवी बीमा योजना की पूरी जानकारी health.rajasthan.gov.in से ले सकते हैं।

कहने को सरकार ने चिरंजीवी बीमा योजना को एक मई से लागू कर दिया है, लेकिन दो दिन बीत जाने के बाद भी इस योजना के तहत जुड़े निजी अस्पतालों में इलाज शुरू नहीं हुआ है। अस्पतालों में इलाज के लिए पहुंच रहे मरीजों को जब इस योजना के क्रियान्वित नहीं होने की जानकारी मिल रही हैं तो वह मायूस ही लौट रहे है। सरकार ने इस योजना को कोरोना व अन्य बीमारियों से जूझ रहे परिवारों की मदद के लिए शुरू किया है।

850 रुपए में सरकार की ओर से पांच लाख रुपए तक का कैशलेस इलाज की सुविधा दी है। सरकार की ओर से इस योजना को लेकर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से लेकर विभिन्न स्थान पर काफी जोश के साथ प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। अब परेशानी यह है, कि इस योजना के तहत अस्पतालों में किसी प्रकार की कोई तैयारी ही नहीं है। दैनिक भास्कर ने जयपुर के कई निजी अस्पतालों में इलाज कराने को लेकर संपर्क किया तो उन्‍होंने इस योजना के तहत उनके पास किसी प्रकार की जानकारी होने से साफ इनकार कर दिया।

वहीं कुछ अस्पतालों में नाम व नम्बरों के आधार पर जानकारी नोट कर कहा कि जब इस योजना को शुरू किया जाएगा तो आप से संपर्क करेंगे। अस्पताल की ओर से नियुक्त नोडल अधिकारियों का कहना है कि अब उनके पास इसको लेकर कोई गाइडलाइन नहीं आई है, जिससे वह इलाज कर सकें।

  • अस्पतालों को इलाज करने के लिए मेल भेजा जा चुका है। दो बार मेल हमारी तरफ से गया है। रविवार को भी मेल किया गया है। कोरोना के चलते कई अस्पताल अपनी मेल चैक नहीं कर रहे हैं। अगर ऐसा हैं तो आप हमें अस्पतालों के बारे में जानकारी दें हम कार्रवाई करेंगे। – अरुणा अरोड़ा, स्टेट हेल्थ एश्योरेंस एजेंसी की चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर

1576 बीमारियों का इलाज पैकेज

योजना से प्रदेश के 1092 सरकारी व निजी अस्पताल जुड़े हैं। इसमें 336 निजी अस्पताल हैं। जयपुर में 132 निजी अस्पताल योजना का हिस्सा हैं। सरकार की ओर से जारी विज्ञापन में हार्ट, कैंसर, किडनी, डायलिसिस, कोविड-19 सहित 1576 प्रकार की बीमारियों के इलाज पैकेज की घोषणा की गई है। अभी तक केवल दो लाख 24 हजार लोग ही रजिस्टर्ड हुए हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply