1 मई से वैक्सीनेशन का चौथा चरण: 18+ के टीकाकरण के लिए पहले दिन 1.33 करोड़ रजिस्ट्रेशन हुए; किसी को स्लॉट नहीं मिला तो किसी को सेंटर का पता नहीं

  • Hindi News
  • National
  • Registration Starts For 18+ Vaccination, But Information Incomplete; Nobody Found The Center If Nobody Got The Slot

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली14 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
रजिस्ट्रेशन बुधवार शाम 4 बजे से शुरू हुआ था, लेकिन सर्वर क्रैश होने से लोगों को काफी दिक्कतें हुईं। - Dainik Bhaskar

रजिस्ट्रेशन बुधवार शाम 4 बजे से शुरू हुआ था, लेकिन सर्वर क्रैश होने से लोगों को काफी दिक्कतें हुईं।

कोविन पोर्टल पर बुधवार शाम 4 बजे से 18 से 44 साल के लोगों के टीकाकरण का रजिस्ट्रेशन शुरू हो गया है। इसके लिए पहले दिन 1.33 करोड़ लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया। शुरुआती दो घंटे में ही 5 करोड़ लोग Cowin.gov.in पर रजिस्ट्रेशन कराने आ गए थे। इससे सर्वर क्रैश हुआ तो लोगों को दिक्कतों का सामना भी करना पड़ा।

जिनका रजिस्ट्रेशन हो भी गया, उनमें से ज्यादातर को पूरी जानकारी नहीं मिली। कई लोगों को टीकाकरण की तारीख नहीं बताई गई तो कई को मई के बजाय अगस्त की तारीख मिली। जिन्हें तारीख मिली उनमें से कई को ये नहीं बताया गया कि उन्हें किस सेंटर पर कौन सी वैक्सीन मिलेगी। सरकारी सूत्रों ने बताया कि कई राज्यों ने अभी सेंटर्स की लिस्ट और वैक्सीन की उपलब्धता की जानकारी नहीं दी है।

अपॉइंटमेंट भी प्राइवेट और राज्य सरकार के सेंटर्स की उपलब्धता पर मिलेगा

  • सरकार ने सबसे पहले जानकारी देते हुए बताया था कि रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 28 अप्रैल से शुरू होगी। लेकिन किसी तरह का समय निर्धारित नहीं किया था। ऐसे में लोगों ने 27 अप्रैल की रात 12 बजे के बाद से ही कोविन पोर्टल, आरोग्य सेतु या उमंग ऐप पर रजिस्ट्रेशन की कोशिशें शुरू कर दीं। लेकिन रजिस्ट्रेशन तब शुरू हो नहीं पाया था। इसके बाद लोग सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा जाहिर करने लगे।
  • इसके बाद 28 फरवरी को सुबह सरकार की तरफ से समय को लेकर जानकारी दी गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया था कि 18 साल से ज्यादा उम्र वाले सभी लोग कोविड -19 की वैक्सीन लगवाने के लिए शाम 4 बजे से कोविन पोर्ट्ल या आरोग्य सेतु से रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।
  • अधिकारियों ने बताया कि वैक्सीन लगवाने के लिए अपॉइंटमेंट लेना जरूरी होगा। सीधे आकर वैक्सीन लगाने की परमिशन नहीं दी जाएगी। अपॉइंटमेंट भी प्राइवेट और राज्य सरकार के सेंटर्स की उपलब्धता के आधार पर ही मिलेगा। यानी राज्यों में एक मई को वैक्सीनेशन के लिए तैयार सेंटर्स के आधार पर ही लोगों को अपॉइंटमेंट दिया जाएगा।

रजिस्ट्रेशन और वैक्सीनेशन से जुड़ी अहम बातें

  • रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू होते ही कोविन पोर्टल और आरोग्य सेतु ऐप क्रैश हो गया। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो हर मिनट 27 लाख लोग COWIN और आरोग्य सेतु ऐप पर लॉग-इन थे।
  • मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रजिस्टर्ड लोगोंं को जल्द स्लॉट्स दिए जाएंगे। इसके लिए स्टेटस चेक करते रहें।
  • भारत में वैक्सीन के लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोवीशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन का इस्तेमाल किया जा रहा है। जल्द रूस की स्पूतनिक-5 का उपयोग भी किया जाएगा।
  • कोविन पर 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के वैक्सीनेशन के रजिस्ट्रेशन के लिए https://selfregistration.sit.co-vin.in/ जैसे कुछ फेक लिंक भी चल रहे हैं। हालांकि, सरकार साफ कर चुकी है कि इसके लिए रजिस्ट्रेशन सिर्फ कोविन, आरोग्य सेतु और उमंग ऐप पर ही होंगे।
  • सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने राज्याें के लिए कोवीशील्ड वैक्सीन का रेट 400 रुपए से घटाकर 300 रुपए प्रति डाेज कर दिया है। हालांकि यह अब भी केंद्र के लिए तय कीमत 150 रुपए प्रति डोज से दोगुना है।

राज्यों ने वैक्सीन कंपनियों को ऑर्डर तो कर दिए, लेकिन खेप कब तक मिलेगी इसका भरोसा नहीं
राज्यों ने 1 मई से शुरू हो रहे वैक्सीनेशन फेज के लिए कंपनियों को ऑर्डर तो दिए हैं, लेकिन अभी यह साफ नहीं है कि कंपनी की ओर से घोषित कीमत पर ही वैक्सीन मिलेगी या राज्यों की कीमतें घटाने की मांग पर कोई कदम उठाया जाएगा। यही नहीं, जो ऑर्डर किए गए हैं वे कंपनियां कब तक डिलीवर करेंगी ये भी साफ नहीं है। जानिए, बड़े राज्यों की क्या है स्थिति-

  • उत्तर प्रदेश : 18 से 44 वर्ष के लोगों की आबादी 9.15 करोड़ है। सरकार ने 1 करोड़ डोज का ऑर्डर दिया है। लेकिन सप्लाई टुकड़ों में मिलेगी। तारीख तय नहीं है।
  • झारखंड :18 से 44 साल के लोगों की आबादी 1.57 करोड़ है। सरकार ने 50 लाख डोज का ऑर्डर दिया है। मिलने का समय तय नहीं।
  • गुजरात : 18 से 44 वर्ष के लोगों की आबादी 3.25 करोड़ है। सरकार ने 1.50 करोड़ डोज का ऑर्डर दिया है। मिलने का समय तय नहीं।
  • राजस्थान : 18 से 44 वर्ष के लोगों की आबादी 3.5 करोड़ है। सरकार ने 3.75 करोड़ डोज का ऑर्डर सीरम को दिया है। सरकार भी कह चुकी है कि 1 मई को वैक्सीन मिलना मुश्किल।
  • छत्तीसगढ़ : 18 से 44 वर्ष के लोगों की आबादी 1.20 करोड़ है। सरकार ने 50 लाख डोज का ऑर्डर दिया है। मिलने का समय तय नहीं है।

महाराष्ट्र को 20 मई तक वैक्सीन नहीं दे पाएंगी कंपनियां, बिहार को देने में असमर्थता जता दी

  • मुंबई में वैक्सीन का पर्याप्त स्टॉक नहीं होने की वजह से गुरुवार को 73 में से 40 केंद्रों पर टीकाकरण नहीं होगा। बाकी 33 प्राइवेट केंद्र पर भी दूसरे डोज वालों को प्राथमिकता दी जाएगी। मुंबई में बुधवार की दोपहर 2 बजे तक ही टीके लगे थे। उसके बाद सिर्फ 47,740 वायल्स का स्टॉक बचा था।
  • महाराष्ट्र में 18 से 44 साल के लोगों की आबादी 5.71 करोड़ है। सरकार ने करीब 1.30 करोड़ डोज का ऑर्डर दोनों कंपनियों को दिया है। लेकिन दोनों ने ही 20 मई से पहले देने में असमर्थता जता दी है।
  • बिहार में 18 से 44 साल के लोगों की आबादी 5.47 करोड़ है। सरकार ने 1 करोड़ डोज का ऑर्डर सीरम को दिया है। कंपनी ने डिलीवरी में असमर्थता जताई है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply