यूपी में लग गया लॉकडाउन, जानें क्या रहेगा खुला और क्या रहेगा बंद



Lockdown in up

बेकाबू हो चुके कोरोना के कहर को काबू में करने के लिए सरकार अपनी तरफ से तमाम प्रयास कर रही है, जिसके तहत अब कई राज्य लॉकडाउन की जद में आ चुके हैं. इस बीच अब खबर है कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में तीन दिन का सूंपर्ण लॉकडाउन लगा दिया गया, लेकिन इस बीच कुछ जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी, ताकि आम जनता को किसी भी प्रकार की समस्या न हो. बता दें कि प्रदेश में लगातार कोरोना के बढ़ते मामलों को मद्देनजर रखते हुए तीन दिन का लॉकडाउन लगाने का फैसला किया गया है. मौजूदा समय में प्रदेश में 3 लाख से भी अधिक सक्रिय मामले बने हुए हैं. हालांकि, स्थिति दुरूह न हो इसलिए सरकार अपनी तरफ से  तमाम प्रयास कर रही है.

इससे पहले सरकार ने प्रदेश में नाइट कर्फ्यू लगाया था, लेकिन जब इससे भी बात नहीं बनी, तो नाइट कर्फ्यू के मियाद को बढ़ा दिया गया, लेकिन बेकाबू हो चुके कोरोना के कहर के आगे यह सब कुछ नाकाफी साबित हुए हैं, जिसको ध्यान में रखते हुए अब योगी सरकार ने प्रदेश में तीन दिन का लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है. यह शुक्रवार शाम से लेकर मंगलवार दोपहर तक प्रभावी रहेगा. इस बीच हम आपको बताते हैं कि आखिर इस तीन दिन के लॉकडाउन के दौरान प्रदेश में क्या रहेगा खुला और क्या रहेगा बंद?  जानने के लिए पढ़िए यह खास रिपोर्ट… 

क्या रहेगा खुला

यहां हम आपको बताते चले कि प्रदेश में मेडिकल दुकानें खुली रहेंगी, ताकि किसी को कोई परेशानी न हो. अगर कोई बिना मास्क के बाहर जाते पकड़ा गया, तो उससे 1 हजार रूपए का जुर्माना वसूला जाएगा. वहीं, अगर पहली मर्तबा जुर्माना भरने के बावजूद भी अगर वो नहीं मानता है, तो फिर अगली मर्तबा उससे 10 हजार रूपए तक जुर्माना वसूला जाएगा. रेस्त्रां खुले रहेंगे, लेकिन सिर्फ हॉम डिलीवरी की ही इजाजत रहेगी. दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों पर रोक रहेंगी. प्रदेश में किसी भी शादी समारोह में महज 50 लोगों के शामिल होने की ही अनुमति रहेंगी.

क्या रहेगा बंद

इसके साथ ही कोरोना के बेकाबू हो चुके कहर पर अंकुश लगाने के लिए जिम, स्पा सेंटर समेत स्कूल, कॉलेज बंद रहेंगे. वहीं, स्कूल कॉलेज के बंद होने की वजह से बच्चों की परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया है. वहीं, मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने कहा कि इस दौरान अगर कोई भी शख्स लापरवाही करता हुआ पाया जाता है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी.

अगर आपको याद न हो तो हम आपको बताते चले कि यह वही उत्तर प्रदेश सरकार है, जिसने प्रदेश में लॉकडाउन लगाने से साफ इनकार कर दिया था, लेकिन प्रदेश में दुरूह हो चुके हालातों के समक्ष सरकार को अपना फैसला बदलना ही पड़ गया. अब ऐसे में लोगों के जेहन में इस बात को लेकर संशय है कि कहीं दिल्ली की भांति यूपी में भी लॉकाडऊउन की मियाद न बढा दी जाए. अगर ऐसा हुआ तो यकीनन श्रमिकों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

Source link

Leave a Reply