अशोक गहलोत भी कोरोना पॉजिटिव: राजस्थान के मुख्यमंत्री संक्रमित हुए, एक दिन पहले ही उनकी पत्नी पॉजिटिव आई हैं

  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ashok Gehlot Coronavirus Update; Rajasthan News | CM Gehlot Tested Positive For Covid 19 And Isolated Himself

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयपुर21 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

राजस्थान में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। गहलोत ने गुरुवार को खुद सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी है। उन्होंने लिखा, ‘कोविड टेस्ट करवाने पर आज मेरी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। मुझे किसी तरह के लक्षण नहीं हैं और मैं ठीक महसूस कर रहा हूं। कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए मैं आइसोलेशन में रहकर ही कार्य जारी रखूंगा।’ इससे एक दिन पहले यानी बुधवार को ही मुख्यमंत्री की पत्नी सुनीता गहलोत की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी।

वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके हैं गहलोत
गहलोत कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके हैं। उन्होंने फरवरी में पहला और मार्च के आखिर में दूसरा डोज लिया था। एक्सपर्ट के मुताबिक वैक्सीन की दोनों डोज के बाद कोरोना होने के बावजूद खतरा कम हो जाता है।

वसुंधरा राजे के बेटे दुष्यंत भी संक्रमित
बुधवार को कोरोना की चपेट में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के पुत्र और झालावाड़-बारां के सांसद दुष्यंत सिंह भी आ गए हैं। वहीं जयपुर विधायक अशोक लाहोटी और उनका पूरा परिवार भी कोरोना से संक्रमित है। राजस्थान में पिछले 24 घंटे के अंदर कोरोना के 16,613 नए केस मिले हैं, जबकि 120 लोगों की मौत हुई है। हालांकि राहत की बात ये है कि प्रदेश में धीरे-धीरे रिकवरी रेट का ग्राफ बढ़ने लगा है। 24 घंटे में 8,303 लोग ठीक हुए हैं।

3 मई के बाद 15 दिन कर्फ्यू बढ़ाने की तैयारी
राजस्थान में कर्फ्यू लगने के बाद भी कोरोना मामलों में कमी नहीं आई है। कोरोना के मामले 12 दिन में ही ढाई गुना हो चुके हैं। कोरोना की इस रफ्तार को देखते हुए राजस्थान सरकार अब कोरोना कर्फ्यू कम लॉकडाउन को 15 दिन तक बढ़ाने पर विचार कर रही है। एक्सपर्ट ने 15 दिन के सख्त कर्फ्यू कम लॉकडाउन का सुझाव दिया है। राजस्थान में 3 मई तक मिनी लॉकडाउन है। 3 मई के बाद भी लॉकडाउन जैसी पाबंदियों को कम से कम 15 दिन और बढ़ाने की तैयारी है। ऐसे में 18 मई तक मौजूदा लॉकडाउन जैसी पाबंदियां बढ़ना तय माना जा रहा है। पढ़ें पूरी खबर

राजस्थान में मौतों की दर 2 सप्ताह में 3 गुना तक बढ़ी
प्रदेश में अब सबसे बड़ी चिंता कोरोना से हो रही मौतों को लेकर है। पिछले कुछ दिनों से राज्य में मौत के आंकड़े तेजी से बढ़ रहे हैं। बीते दो सप्ताह की रिपोर्ट देखें तो संक्रमण से मौतों के केस 3 गुना तक बढ़ गए हैं। सूत्रों के मुताबिक प्रशासन रिपोर्ट में उन्हीं मरीजों की कोरोना से मौत बता रहा है जिनकी RTPCR रिपोर्ट पॉजिटिव है।

राजपूत समाज के नेता का कोरोना से निधन
प्रदेश के राजपूत समाज से जुड़े नेता गिरिराज सिंह लोटवाड़ा का गुरुवार को जयपुर के RUHS अस्पताल में निधन हो गया है। लोटवाड़ा लंबे समय तक राजपूत सभा भवन के अध्यक्ष रहे थे। कोरोना से संक्रमित होने के बाद पिछले दिनों उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, लेकिन सांस की तकलीफ चलते उनकी स्थिति बिगड़ती चली गई।

राजस्थान में कल आए रिकॉर्ड 16,613 केस, सात दिन में 1.10 लाख संक्रमित
राजस्थान में कोरोना केस का बुधवार को नया रिकॉर्ड बना है। पिछले 24 घंटे के अंदर 16,613 नए केस मिले हैं, जबकि 120 मरीजों की मौत हो गई। पिछले एक सप्ताह की रिपोर्ट देखें तो पूरे राज्य में 1.10 लाख लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। हालांकि, राहत की बात ये है कि एक सप्ताह के अंदर 42,568 लोग रिकवर भी हो गए।

जयपुर, जोधपुर, कोटा समेत 5 जिलों में हालात बेकाबू
राज्य में सबसे ज्यादा विकट हालात जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, कोटा और अलवर के बने हुए हैं। यहां लगातार बड़ी संख्या में संक्रमित केस मिल रहे हैं। जयपुर में हालात इतने खराब हो चुके हैं कि अस्पतालों ने मरीजों को भर्ती करना बंद कर दिया है। RUHS में लोगों को रोकने के लिए मुख्य गेट पर सुरक्षा गार्ड लगाने पड़ गए। वहीं ऑक्सीजन को लेकर भी मारामारी मची हुई है।

बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए सरकार अब सूबे के सबसे बड़े अस्पताल SMS को कोविड मरीजों के लिए शुरू करने पर विचार कर रही है। संभावना है दो-तीन दिन के अंदर SMS में केवल गंभीर रोगियों के उपचार के लिए शुरू किया जा सकता है। इसके अलावा, कम लक्षण व हल्के ऑक्सीजन सपोर्ट वाले मरीजों को प्रशासन ने शिवदासपुरा स्थिति राधा स्वामी सत्संग भवन बीलवा में बनाए कोविड केयर सेंटर में भेजना शुरू कर दिया है। यही स्थित प्रदेश के अन्य प्रमुख जिलों की भी है। अलवर, कोटा, उदयपुर, जोधपुर, अजमेर, पाली सहित कई बड़े शहरों में मरीजों को बेड्स और ऑक्सीजन नहीं मिल रही।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply