लॉकडाउन के दौरान ऐसे खेती कर कमाएं लाखों का मुनाफा!



Agriculture News

यूं तो खबरों की इस दुनिया में हमेशा से ही किसानों की बदहाली सुर्खियों में रही है, लेकिन अगर लॉकडाउन के दौरान किसानों को हुई समस्याओं की बात करें, तो साल 2020 में हमारे अन्नदाताओं को बेशुमार समस्याओं का सामना करना पड़ा है. और आज भी एक साल बाद स्थिति जस की तस बनी हुई है.

आज भी कोरोना ने पूरी दुनिया को जकड़ कर रखा हुआ है, आज भी देश के कई राज्य लॉकडाउन की मार झेल रहे हैं, इसी वजह से आज भी हमारे किसान भाइयों को बेशुमार समस्याओं से रूबरू होना पड़ रहा है, लेकिन अब हमारी यह खास रिपोर्ट उन सभी किसान भाइयों के लिए बेहद फायदेमंद साबित होने जा रही है, जिन्हें बीते लॉकडाउन के दौरान से लेकर अब तक कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है.

वो कैसे?…तो इसे जानने के लिए पढ़िये हमारी यह खास रिपोर्ट…

दरअसल लॉकडाउन के दौरान हमारे किसान भाई छतों पर, पार्किंग में या फिर कहीं भी उपलब्ध सीमित जगह का इस्तेमाल कर खेती कर सकते हैं और खास बात यह है कि इस तरह की खेती में मिट्टी का इस्तेमाल नहीं होता और मिट्टी न होने से छतों पर छोटी-सी जगह में आसानी से खेती की जा सकती है. ये तकनीक इतनी सफल है कि सही जानकारी, सही सलाह से आप घर बैठे सालाना 2 लाख रुपए तक का मुनाफा कमा सकते हैं.

आपको बता दें इस तकनीक को हाइड्रोपानिक्स तकनीक कहा जाता है. इस तकनीक की खास बात यह है कि इसमें मिट्टी का इस्तेमाल बिल्कुल भी नहीं होता है. इससे पौधों के लिए जरूरी पोषक तत्वों को पानी के सहारे सीधे पौधों की जड़ों तक पहुंचाया जाता है.

अगर आप छत पर खेती कर लाखों का मुनाफा कमाना चाहते हैं, तो आपको कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना होगा. जैसे- छत पर खेती करने के लिए आप ऐसी क्यारी बनांए जो वॉटर प्रूफ हो, जिससे पानी का छत पर टपकने से कोई खतरा न हो. जैविक सामग्री से लैस इन क्यारियों में आप भिंडी, टमाटर, बैंगन, मेथी, पालक, चौलाई, पोई साग, गाजर, शलजम, ककड़ी, मूली, आलू, शिमला मिर्च, मटर, स्ट्रॉबेरी, ब्लैकबेरी, ब्लूबेरी, तरबूज, खरबूजा और अनानास आदि उगा सकते हैं.

सब्जियों को उगाते समय नारियल का खोल मुख्य तौर पर डालें जिससे छत पर ज्यादा वजन ना पड़े और पानी रिसने की समस्या भी ना हो साथ ही इसमें नारियल के खोल के अलावा कुछ मिश्रण और मिलांए जिससे फसल तेजी से और बेहतर गुणवत्ता के साथ तैयार हो सके.

आपको बता दें इस तकनीक में फास्फोरस, नाइट्रोजन, मैग्निशियम, कैलशियम, पोटाश, जिंक, सल्फर, आयरन और कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं.

Source link

Leave a Reply