सिपरी की रिपोर्ट: महामारी के दौर में भी हथियारों पर पैसा लुटाने में पीछे नहीं है दुनिया, सालभर में 150 लाख करोड़ रुपए बढ़ गया खर्च

  • Hindi News
  • International
  • The World Is Not Behind In Looting Money On Weapons Even During The Pandemic, The Expenditure Increased By 150 Lakh Crores In A Year

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्टॉकहोम8 घंटे पहले

एक साल में वैश्विक सैन्य खर्च 2.6% बढ़ा।

  • 2009 की मंदी के बाद सबसे ज्यादा खर्च, शीर्ष 5 देशों में भारत भी

दुनिया भर कोरोना महामारी के बावजूद हथियारों की होड़ जारी है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कुल वैश्विक सैन्य खर्च साल भर में 150 लाख करोड़ रुपए तक बढ़ गया। 2019 के मुकाबले 2020 में इसमें 2.6% की बढ़ोतरी हुई है। स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (सिपरी) की ताजा रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। इसके मुताबिक पिछले साल सैन्य खर्च पर देशों ने 146 लाख करोड़ रुपए खर्च किए। 2009 की मंदी के बाद यह सबसे बड़ी सालाना बढ़ोतरी है। 2020 में पांच सबसे ज्यादा सैन्य खर्च करने वाले देशों में अमेरिका, चीन, भारत, रूस और ब्रिटेन शामिल हैं। इन देशों ने कुल सैन्य खर्च का 62% खर्च किया है। इस बीच, चीन ने सैन्य खर्च लगातार 26वें साल बढ़ाया है।

सिपरी के मुताबिक भारत का सैन्य खर्च 2020 में 2019 की तुलना में 2% ज्यादा रहा। इसके पीछे भारत के पड़ोसी देशों पाकिस्तान और चीन के साथ सीमा विवाद और तनाव हो सकता है। सिपरी के हथियार और सैन्य खर्च कार्यक्रम के शोधकर्ता डॉ. डिएगो लोपेस द सिल्वा के मुताबिक, ‘हम निश्चित रूप से कह सकते हैं कि साल 2020 में महामारी का बड़ा असर सैन्य खर्च पर नहीं पड़ा। यह देखने लायक होगा कि क्या देश महामारी के दूसरे साल भी इस तरह से सैन्य खर्च को बनाए रखते हैं।

कुल सैन्य खर्च का 62% खर्च सिर्फ 5 देशों ने किया।

कुल सैन्य खर्च का 62% खर्च सिर्फ 5 देशों ने किया।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply