देश में अब हर दिन 9250 मीट्रिक टन से भी ज्यादा होगा ऑक्सीजन का उत्पादन, उच्चस्तरीय बैठक में PM ने दिए ये निर्देश

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश में कोविड-19 से उत्पन्न हालात को लेकर उच्चस्तरीय बैठक की और ऑक्सीजन व मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्च र की समीक्षा की। इस दौरान तीन इंपावर्ड ग्रुप्स ने प्रधानमंत्री मोदी के सामने ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर प्रजेंटेशन दिया। बताया गया कि पिछले साल की तुलना में देश में घरेलू मेडिकल ऑक्सीजन उत्पादन बढ़ा है।

बैठक में प्रधानमंत्री मोदी को अफसरों ने बताया कि देश में अगस्त 2020 को 5700 मीट्रिक टन प्रतिदिन से बढ़कर अब 8922 मीट्रिक टन हो गई है। अप्रैल के आखिर तक 9250 मीट्रिक टन प्रतिदिन ऑक्सीजन प्रोडक्शन पहुंचने की उम्मीद है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अफसरों को राज्य सरकारों के साथ समन्वय बनाकर कार्य करने के निर्देश दिए।

उन्होंने ऑक्सीजन प्लांट लगवाने के निर्देश दिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान ऑक्सीजन सप्लाई में रेलवे और एयरफोर्स की सेवाओं के बारे में जानकारी ली। प्रधानमंत्री मोदी ने देश में आईसीयू आदि की उपलब्धता के बारे में भी जानकारी ली। इस बैठक में कैबिनेट सेक्रेटरी, होम सेक्रेटरी, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के सेक्रेटरी, नीति आयोग के सदस्य सहित अन्य अफसर मौजूद रहे।

देश में कोविड-19 के 3,23,144 नए मामले, मृतकों की संख्या दो लाख के करीब पहुंची
बता दें कि देश में एक दिन में 3,23,144 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद मंगलवार को संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,76,36,307 हो गई जबकि राष्ट्रीय स्तर पर ठीक होने की दर गिरकर 82.54  फीसदी हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि संक्रमण से 2,771 और लोगों के दम तोड़ने से मृतक संख्या बढ़कर 1,97,894 हो गई है।

पिछले कुछ दिनों की तुलना में रोजाना मामलों में आंशिक गिरावट आई हैं। उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 28,82,204 हो गई है जो कुल संक्रमितों का 16.34 फीसदी है। राष्ट्रीय स्तर पर कोविड-19 से ठीक होने की दर गिरकर 82.54  फीसदी हो गई है। यह दर 17 फरवरी को 97.33 फीसदी थी।

मंत्रालय के अनुसार संक्रमण से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 1,45,56,209 हो गई है जबकि मृत्यु दर गिरकर 1.12 फीसदी हो गई है। भारत में सात अगस्त को कोविड-19 रोगियों की संख्या 20 लाख से अधिक हो गई थी। इसके बाद 23 अगस्त को संक्रमितों की संख्या 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को एक करोड़ से अधिक हो गई थी। देश में 19 अप्रैल को संक्रमितों की संख्या 1.50 करोड़ से अधिक हो गई।

Source link

Leave a Reply