सुशांत केस से जुड़ा ड्रग्स का मामला: NDPS कोर्ट ने की NCB की चार्जशीट की तारीफ, सभी 33 आरोपियों को तय तारीख पर होना होगा कोर्ट में पेश

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

17 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
रिपोर्ट्स की मानें तो सुशांत सिंह राजपूत केस से जुड़े ड्रग्स मामले में NDPS कोर्ट ने सभी 33 आरोपियों  को समन जारी किया है। - Dainik Bhaskar

रिपोर्ट्स की मानें तो सुशांत सिंह राजपूत केस से जुड़े ड्रग्स मामले में NDPS कोर्ट ने सभी 33 आरोपियों  को समन जारी किया है।

दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत से जुड़े ड्रग के मामले में फाइल की गई NCB की चार्जशीट की स्पेशल NDPS कोर्ट ने तारीफ की है। कोर्ट के मुताबिक, पहली नजर में चार्जशीट काफी अच्छे से तैयार की हुई लगती है। NCB ने यह चार्जशीट 5 मार्च को फाइल की थी। लगभग 12 हजार पेज की इस चार्जशीट में सुशांत की गर्लफ्रेंड एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती, उनके भाई शोविक चक्रवर्ती समेत 33 लोगों को आरोपी बनाया था। 5 को फरार बताया गया था।

कोर्ट ने चार्जशीट की तारीफ में क्या कहा?

NDPS कोर्ट ने तारीफ में कहा, “कंप्लेंट देखें या चार्जशीट। शिकायतकर्ता द्वारा रिलायंस जियो, वोडाफोन, एयरटेल आदि के मोबाइल नंबरों के CDR के साथ-साथ दस्तावेजों पर भी निर्भर रहना होता है। शिकायतकर्ता कागजी सबूतों के साथ-साथ डिजिटल एविडेंस पर भी निर्भर रहता है। पहली नजर में शिकायत के आरोपों की जांच अच्छी तरह से की हुई लगती है।”

NCB ने डिजिटल एविडेंस भी दिए थे

NCB ने अपनी चार्जशीट के साथ 50 हजार पेज के डिजिटल एविडेंस भी दिए थे। इनमें आरोपियों के बीच हुई वॉट्सऐप चैट, उनके कॉल डेटा रिकॉर्ड और बैंक दस्तावेजों समेत अन्य सबूत शामिल हैं। 200 से अधिक गवाहों के बयान को भी इसमें शामिल किया गया था।

सभी 33 आरोपियों को समन जारी

रिपोर्ट्स की मानें तो कोर्ट ने सभी 33 आरोपियों को समन जारी किया है। कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए कोर्ट ने सभी आरोपियों को उनके आरोपों के अनुसार तीन कैटेगरी में बांटा है। ताकि कोर्ट में ज्यादा भीड़ जमा न हो। साथ ही कोर्ट ने सभी आरोपियों को हिदायत दी है कि वे चाहें न्यायिक हिरासत में हों या फिर जमानत पर बाहर हों, उन्हें तय तारीख पर उनके सामने पेश होना होगा।

आरोप हटे तो कोर्ट में कोई मामला नहीं रहेगा

अगली स्टेज में प्रॉसिक्यूशन ड्राफ्ट चार्ज सबमिट करेगा। आरोपी डिस्चार्ज याचिका भी सबमिट कर सकते हैं। उसके बाद कोर्ट आरोप तय करेगा। एक बार आरोप तय होने के बाद कोर्ट में ट्रायल शुरू हो जाएगा। लेकिन अगर किसी आरोपी के ऊपर से आरोप हट जाते हैं तो NDPS कोर्ट में उसके खिलाफ कोई मामला नहीं रहेगा।

सुशांत का केस NCB के हाथ ऐसे आया

सुशांत की मौत के दो महीने बाद उनके पिता ने पटना में केस दर्ज कराया था। यह केस सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया और रिया के परिवार के सदस्यों समेत 5 लोगों के खिलाफ था। इन सभी पर सुशांत के 15 करोड़ रुपए हड़पने का आरोप लगाया गया था। इसके बाद रिया ने सुप्रीम कोर्ट से यह केस मुंबई ट्रांसफर करने की गुहार लगाई थी।

शीर्ष अदालत ने यह केस CBI को सौंप दिया था। यहीं से प्रवर्तन निदेशालय (ED) की एंट्री इस केस में हुई और रिया के वॉट्सऐप चैट की जांच से ड्रग्स का एंगल सामने आया। ड्रग्स से जुड़ी चैट मिलने के बाद नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की एंट्री हुई और बॉलीवुड में चल रहे बड़े ड्रग्स का रैकेट का भंडाफोड़ हुआ।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply