इतिहास में आज: आज ही खत्म हुआ था अन्ना हजारे का आमरण अनशन, सरकार ने मानी थी लोकपाल कानून बनाने की मांग

  • Hindi News
  • National
  • Today History: Aaj Ka Itihas 9 April Facts Update | India Pakistan War Of 1965, Anna Hazare’s Fast Unto Death

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

2011 में आज ही के दिन सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने चार दिन से चल रहा अपना आमरण अनशन तोड़ा था। अन्ना भ्रष्टाचार के मुद्दे पर अनशन पर थे। उनकी मांग थी कि सरकार लोकपाल विधेयक का मसौदा तैयार करने के लिए एक कमेटी बनाए। सरकार ने उनकी मांग मानते हुए अनशन के पांचवे दिन यानी 9 अप्रैल को इसके लिए अधिसूचना जारी की, जिसके बाद अन्ना ने एक छोटी बच्ची के हाथों नींबू पानी पीकर अपना अनशन तोड़ा।

अनशन खत्म करने के बाद उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि 15 अगस्त तक लोकपाल विधेयक पास नहीं किया जाता है, तो अगले दिन से वो एक बार फिर आंदोलन शुरू करेंगे। 15 अगस्त तक विधेयक पास नहीं हुआ और 16 अगस्त को अन्ना दोबारा अनशन पर बैठे। इसके बाद देशभर में अन्ना के समर्थन में आंदोलन शुरू हो गए। आखिरकार सरकार को आनन-फानन में इस बिल को लोकसभा में लाना पड़ा। लोकसभा में बिल पास होने के बाद अन्ना का आंदोलन खत्म हुआ।

अन्ना आंदोलन में शामिल कई सामाजिक कार्यकर्ता इस आंदोलन के बाद नेता बन गए। इनमें अरविंद केजरीवाल, किरण बेदी और मनीष सिसोदिया भी शामिल हैं।

अन्ना आंदोलन में शामिल कई सामाजिक कार्यकर्ता इस आंदोलन के बाद नेता बन गए। इनमें अरविंद केजरीवाल, किरण बेदी और मनीष सिसोदिया भी शामिल हैं।

अन्ना के आंदोलन ने केजरीवाल को नेता बना दिया

अन्ना के आंदोलन को किरण बेदी, कुमार विश्वास, अनुपम खेर, जनरल वीके सिंह, योगेंद्र यादव जैसी हस्तियों ने समर्थन दिया। अरविंद केजरीवाल, संजय सिंह, शाजिया इल्मी जैसे कई लोग इस आंदोलन के बाद हीरो बन गए। अन्ना अपने आंदोलन को राजनीतिक लोगों से दूर रखते थे। अन्ना के साथ इस आंदोलन में शामिल कई लोग इसी आंदोलन से नेता बन गए। इन लोगों ने मिलकर आम आदमी पार्टी बनाई। केजरीवाल इसके संयोजक बने।

लेकिन ये पार्टी जल्द ही बिखर गई। इससे जुड़े कई लोग दूसरी पार्टियों में शामिल हो गए तो कुछ ने राजनीति से किनारा कर लिया, लेकिन पूरे आंदोलन से सबसे ज्यादा फायदा केजरीवाल को हुआ। इस आंदोलन से नेता बने केजरीवाल तीन बार से दिल्ली के मुख्यमंत्री हैं।

2005 में आज ही के दिन प्रिंस चार्ल्स और कैमिला पार्कर बोल्स ने शादी की थी। दोनों की पहली मुलाकात 1970 में हुई थी। डायना से शादी के बाद भी अक्सर चार्ल्स और कैमिला के अफेयर की खबरें आती रहती थीं।

2005 में आज ही के दिन प्रिंस चार्ल्स और कैमिला पार्कर बोल्स ने शादी की थी। दोनों की पहली मुलाकात 1970 में हुई थी। डायना से शादी के बाद भी अक्सर चार्ल्स और कैमिला के अफेयर की खबरें आती रहती थीं।

प्रिंस चार्ल्स ने कैमिला से शादी की

2005 में ब्रिटिश शाही परिवार के प्रिंस चार्ल्स ने कैमिला पार्कर बोल्स से शादी की। शादी में इस जोड़े का 20 हजार से ज्यादा लोगों ने स्वागत किया। शादी समारोह में शाही परिवार और उनके दोस्तों समेत करीब 800 लोग शामिल हुए थे। प्रिंस चार्ल्स की ये दूसरी शादी थी। इससे पहले 1981 में उन्होंने लेडी डायना से शादी की थी। डायना से उनके दो बेटे प्रिंस विलियम और प्रिंस हैरी हैं।

कच्छ में शुरू हुआ था भारत-पाकिस्तान युद्ध

1965 में आज ही के दिन गुजरात के कच्छ में पाकिस्तानी सेना ने हमला बोल दिया था। पाकिस्तान ने इसे ऑपरेशन ‘डेजर्ट हॉक’ नाम दिया था। करीब 5 महीने चले इस युद्ध में भारत का पलड़ा भारी रहा। इस युद्ध का अंत संयुक्त राष्ट्र की ओर से युद्ध विराम की घोषणा के बाद 23 सितंबर 1965 को हुआ। जनवरी 1966 को हुए ताशकंद समझौते के बाद दोनों देशों ने एक-दूसरे से जीते हुए इलाके वापस लौटा दिए।

2003 में आज ही के दिन बगदाद में सद्दाम की इस मूर्ति को गिरा दिया गया था।

2003 में आज ही के दिन बगदाद में सद्दाम की इस मूर्ति को गिरा दिया गया था।

इराक में सद्दाम युग का अंत

9 अप्रैल 2003 को बगदाद के फिरदौस चौराहे पर लगी सद्दाम हुसैन की मूर्ति को गिरा दिया गया था। ये इराक में सद्दाम की तानाशाही के खात्मे का प्रतीक थी। सद्दाम की इस मूर्ति को लोगों ने पहले हथौड़े से मारकर, फिर गले में फांसी डालकर गिराने की कोशिश की, लेकिन उन्हें कामयाबी नहीं मिली। इसके बाद अमेरिकी सेना ने सैनिक वाहन की मदद से इस मूर्ति को गिराया। सद्दाम के तख्तापलट के बाद इराक पर अमेरिका का नियंत्रण हो गया। हालांकि अमेरिका सद्दाम को उस वक्त तक पकड़ नहीं पाया था।

9 अप्रैल को देश-दुनिया में हुई अन्य महत्वपूर्ण घटनाएं इस प्रकार हैं-

2009: कटी पतंग, अमर-प्रेम और आराधना जैसी 40 से ज्यादा हिंदी और बंगाली फिल्मों के डायरेक्टर शक्ति सामंत का निधन हुआ।

2001: अमेरिकी एयरलाइंस ने ट्रांस वर्ल्ड एयरलाइंस का अधिग्रहण किया। इसके साथ ही अमेरिकी एयरलाइंस दुनिया की सबसे बड़ी एयरलाइन बन गई।

1988: अभिनेत्री स्वरा भास्कर का दिल्ली में जन्म हुआ। स्वरा तनु वेड्स मनु, रांझणा और वीरे दी वेडिंग जैसी फिल्मों में नजर आ चुकी हैं।

1948: अभिनेत्री जया बच्चन का मध्य प्रदेश के जबलपुर में जन्म हुआ। गुड्डी, कोरा कागज, जंजीर, अभिमान, चुपके-चुपके, मिली और शोले जैसी फिल्मों में काम करने वाली जया राज्यसभा सांसद हैं।

1893: हिंदी साहित्यकार राहुल सांकृत्यायन का जन्म हुआ।

1860: पहली बार मनुष्य की आवाज रिकॉर्ड की गई।

1669: मुगल बादशाह औरंगजेब ने सभी हिन्दू स्कूलों और मंदिरों को ध्वस्त करने का आदेश दिया।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply