हरिद्वार कुंभ में बढ़ती भीड़ और संक्रमितों से चिंता: रोज पहुंच रहे 50 हजार श्रद्धालु, केंद्र ने चेताया- बन सकता है ‘सुपर स्प्रेडर’, अब साधु-संतों की मदद लेगी सरकार

  • Hindi News
  • National
  • 50 Thousand Devotees Arriving Daily, Center Warns Can Become ‘super Spreader’

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

20 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
हर की पैड़ी पर मंगलवार को गंगा पूजन और 151 शंखों के नाद के साथ कुंभ का औपचारिक आगाज हुआ, इस मौके पर सीएम तीरथ सिंह रावत भी मौजूद थे, इस दौरान मास्क को लेकर लापरवाही भी दिखी। - Dainik Bhaskar

हर की पैड़ी पर मंगलवार को गंगा पूजन और 151 शंखों के नाद के साथ कुंभ का औपचारिक आगाज हुआ, इस मौके पर सीएम तीरथ सिंह रावत भी मौजूद थे, इस दौरान मास्क को लेकर लापरवाही भी दिखी।

  • हरिद्वार में दो दिन से मिल रहे 150 से ज्यादा संक्रमित, जांच और सख्ती बढ़ी

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच हरिद्वार में चल रहे कुंभ में श्रद्धालुओं की भीड़ ने चिंता बढ़ा दी है। एक अप्रैल से शुरू हुए कुंभ में रोज औसतन 50 हजार श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। केंद्र सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने चेताया है कि कुंभ कोरोना का ‘सुपर स्प्रेडर’ बन सकता है। इसलिए इसे समय से पहले समाप्त करने पर विचार करना चाहिए। दूसरी ओर, मेला प्रशासन का दावा है कि संक्रमण से बचने के लिए दिशा-निर्देशों का पालन किया जा रहा है।

कोरोना की स्थिति की समीक्षा के लिए सचिव स्तरीय बैठक में वरिष्ठ केंद्रीय अधिकारी ने कुंभ के चलते स्थिति बिगड़ने की आशंका जताई। उन्होंने कहा कि अगर निर्धारित समय से पहले कुंभ समाप्त नहीं करते तो यह कोविड का ‘सुपर स्प्रेडर’ बन सकता है। हरिद्वार कुंभ 30 अप्रैल तक चलेगा। इस बीच, सरकार एक टीम बना रही है, जो साधु-संतों और धर्मगुरुओं की मदद से तीर्थयात्रियों को मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील करेगी।

सूत्रों के मुताबिक, सरकार कुंभ समय से पहले समाप्त करने पर विचार नहीं कर रही। सरकार का मानना है कि एक स्तर तक कोरोना का डर जरूरी है, ताकि लोग नियमों के प्रति लापरवाही न करें। बेवजह डर पैदा न हो इसलिए ‘स्वस्थ्य भय’ की मुहिम चलाई जाएगी।

आरटी-पीसीआर टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य
मेला प्रशासन ने बताया, कुंभ क्षेत्र में आने के लिए 72 घंटे पहले आरटी-पीसीआर टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट लानी अनिवार्य है। हरिद्वार, ऋषिकेश और देवप्रयाग में फैले कुंभ क्षेत्र में प्रवेश के लिए सात एंट्री पॉइंच हैं, जिन पर एंटीजन टेस्ट और थर्मल स्क्रीनिंग हो रही है। किसी वाहन में एक भी यात्री एंटीजन टेस्ट में पॉजिटिव मिल रहा है तो पूरा वाहन लौटा दिया जा रहा है। सोमवार को भगवानपुर पाइंट से पूर्वी यूपी से आई चार बसें लौटाई गईं। वहीं, मंगलवार को बिना कोविड टेस्ट के आए 579 वाहनों और 2423 लोगों को लौटा दिया गया।

सभी 72 घाटों पर होगी रैंडम जांच, निजी लैब बढ़ाएंगे
हरिद्वार के 72 गंगा घाटों पर जांच होगी। अभी तक 10 सरकारी, 11 निजी लैब जांच करती थीं। वहीं अब 14 निजी लैब बढ़ेंगी। अभी हरिद्वार में रोज 20 हजार जांचें हो रही हंै। इनमें 16 हजार से ज्यादा यात्री होते हैं। निजी लैब संचालिका डॉ. संध्या शर्मा ने बताया, पहले 100 सैंपल में एक-दो संक्रमित होते थे, पर अब 6-7 तक हैं। मंगलवार को 166 पॉजिटिव मिले हैं। इससे पहले दो दिन में 349 केस थे। वहीं, दो से चार अप्रैल के बीच औसतन 75-80 मरीज ही थे।

देहरादून-हरिद्वार के जिला कोर्ट दो हफ्ते के लिए बंद
नैनीताल हाईकोर्ट ने देहरादून और हरिद्वार जिला व परिवार न्यायालय दो हफ्ते बंद करने का निर्देश दिया है। इस दौरान सिर्फ बेहद जरूरी मामलों की ही सुनवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply