चौथे फेज की वोटिंग से पहले बंगाल में बवाल: बंगाल BJP के चीफ दिलीप घोष के काफिले पर हमला, चुनाव प्रचार करते समय गाड़ियों के शीशे तोड़े

  • Hindi News
  • National
  • West Bengal BJP Chief Dilip Ghosh । Convoy Attacks In Sitalkuchi Cooch Behar । Fourth Phase Election In West Bengal । TMC And BJP । Shahnawaj Hussain

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोलकाताएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
दिलीप घोष के काफिले पर बुधवार शाम पश्चिम बंगाल के कूच बिहार के सीतलकुची में हमला हुआ है। - Dainik Bhaskar

दिलीप घोष के काफिले पर बुधवार शाम पश्चिम बंगाल के कूच बिहार के सीतलकुची में हमला हुआ है।

पश्चिम बंगाल में BJP के अध्यक्ष दिलीप घोष के काफिले पर बुधवार शाम हमला हुआ है। जिस समय उन पर हमला हुआ, उस वक्त घोष कूच बिहार के सीतलकुची में चुनाव प्रचार कर रहे थे। हमलावरों ने उनकी गाड़ी के शीशे तोड़ दिए।

एक दिन पहले मंगलवार को BJP नेता और बिहार सरकार में मंत्री शाहनवाज हुसैन की हावड़ा में रैली के दौरान पत्थरबाजी हुई थी। शाहनवाज हुसैन ने ही ये जानकारी शेयर की थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि रैली में काफी भीड़ थी, जिसे देखकर TMC के गुंडे पत्थरबाजी करने लगे। एक BJP कार्यकर्ता इस घटना में घायल हो गया था। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। हुसैन ने कहा कि रैली में पुलिसकर्मियों की कमी थी, जिसका TMC कार्यकर्ताओं ने फायदा उठाया।

चुनाव प्रचार के लिए कूच बिहार पहुंचे दिलीप घोष पर अचानक भीड़ ने हमला कर दिया।

चुनाव प्रचार के लिए कूच बिहार पहुंचे दिलीप घोष पर अचानक भीड़ ने हमला कर दिया।

बंगाल में मंगलवार को ही तीसरे फेज में 31 सीटों पर वोटिंग हुई। इस चरण में 205 प्रत्याशी मैदान में थे। इसमें 13 महिलाएं थीं। जिन सीटों पर मतदान हुआ वे 3 जिलों हुगली, हावड़ा और दक्षिण 24 परगना में थी। चुनाव में सबकी निगाहें हुगली जिले की तारकेश्वर सीट पर टिकी थीं। यहां से BJP ने स्वपन दासगुप्ता को टिकट दिया है। वे पूर्व राज्यसभा सांसद, पत्रकार और पद्म भूषण अवॉर्डी हैं। पश्चिम बंगाल में छिटपुट हिंसा के बीच 77.68% मतदान हुआ था। यहां अभी चुनाव के पांच चरणों में 203 सीटों पर वोटिंग बाकी हैं। चुनाव के नतीजे दो मई को आएंगे।

चुनाव आयोग ने ममता को नोटिस जारी किया
चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को नोटिस जारी किया है। नोटिस 3 अप्रैल को दिए गए ममता के उस बयान पर जारी हुआ है, जिसमें उन्होंने मुस्लिम वोटर्स से अपील की थी कि वे किसी भी कीमत पर अपना वोट बंटने न दें। आयोग ने उनके इस बयान को सांप्रदायिक माना है। ममता को इस बयान पर 48 घंटे के अंदर सफाई देने के लिए कहा गया है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply