भास्कर इंटरव्यू: हर तरह की फिल्में करना चाहती हैं रश्‍म‍िका मंदाना, बोलीं- मेरी ऑडियंस भी कहती है कि मैं किसी एक इंडस्‍ट्री का हिस्‍सा बनकर न रहूं

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

26 मिनट पहलेलेखक: अमित कर्ण

  • कॉपी लिंक

कन्‍नड़ और तेलुगू फिल्‍मों की स्‍टार एक्‍ट्रेस रश्‍मि‍का मंदाना का बॉलीवुड डेब्‍यू हो चुका है। सिद्धार्थ मल्‍होत्रा के साथ उनकी एक फिल्‍म ‘मिशन मजनू’ पूरी हुई भी नहीं थी कि तब तक उन्होंने अमिताभ बच्‍चन के साथ ‘गुड बॉय’ में काम शुरू कर दिया। आज ( 5 अप्रैल) उनका जन्‍मदिन है और इस खास मौके पर उन्‍होंने दैनिक भास्‍कर से बातचीत की और बताया कि उनकी ऑडियंस कहती है कि वो किसी एक इंडस्‍ट्री का हिस्‍सा बनकर न रहें।

Q-आप की हिंदी काफी अच्छी है, घर में हिंदी को लेकर कैसा माहौल रहा है?

A-मेरी तैयारी तो फिल्‍म के साथ ही शुरू हुई है। मैं ऑन द जॉब सारी लैंग्‍वेज सीख रही हूं।

Q-क्या बर्थडे सेट पर ही सेलिब्रेट हो रहा है? कोई खास रेजोल्यूशन सेट कर रही हैं?

A-जी हां, यह बर्थडे तो सेट पर ही सेलिब्रेट होगा और ऐसा पहली बार हो रहा है। इससे पहले मैंने कभी वर्किंग बर्थडे नहीं मनाया है। कोई रेजोल्यूशन तो सेट नहीं किया है। बस अभी तो बस उस आम घोड़े की तरह खूब मेहनत करनी है, जिनकी आंखों पर हॉर्स ब्‍लांइडर लगे होते हैं, ताकि उनकी नजर सिर्फ मंजिल पर रहे। बहुत बेताब हूं कि यहां की ऑडिएंस मुझे कैसे एक्‍सेप्‍ट करती है।

Q-आपको दोनों फिल्‍में कब ऑफर हुईं थीं?

A-‘मिशन मजनू’ तो लॉकडाउन के दौरान ऑफर हुई थी। फिल्म के राइटर और डायरेक्‍टर ने मुझे अप्रोच किया था। मैंने जूम कॉल पर स्‍टोरी सुनी और फिर स्क्रिप्‍ट मंगवाई। वह मुझे इतनी पसंद आई कि मैं फिल्म का हिस्‍सा बन गई। फिल्म ‘गुड बॉय’ तो तीन से चार महीने पहले आई थी। तब मैंने विकास बहल से स्क्रिप्‍ट मंगवाई। तब मैंने वाट्सऐप मैसेज कर हामी भर दी। दोनों ही परफॉरमेंस केंद्रित फिल्‍में हैं।

Q-आप अमिताभ बच्‍चन की किन फिल्‍मों की मुरीद रही हैं?

A- फिल्म ‘शोले’ तो हर किसी की ऑल टाइम फेवरेट है। इसके अलावा मुझे फिल्म ‘कभी खुशी कभी गम’, ‘कभी अलविदा न कहना’, ‘डॉन’ और ‘बदला’ में उनका काम बहुत पसंद आया था। साथ ही फिल्म ‘पिंक’ भी मुझे बहुत पसंद आई थी।

Q-पहले साउथ और अब नॉर्थ दोनों जगहों पर अपने बिना गॉडफादर के मुकाम हासिल किया है। इसका क्रेडिट किसे जाता है?

A-मैं आउटसाइडर या इनसाइडर जैसे कॉन्‍सेप्‍ट पर बिलीव नहीं करती हूं। मेरी पर्सनैलिटी ऐसी है कि मैं कहीं भी जाती हूं, तो वहीं से ताल्‍लुक रखने वाली लगने लगती हूं। अभी मैं बोल सकती हूं कि मैं मुंबई गर्ल हूं। मैं कहीं भी फिट हो जाती हूं। हां यह जरूर है कि मैंने साउथ में काफी काम तो किया है पर मैं सिर्फ वहीं की नहीं हूं। मैं देश के हर कोने में पहुंचना चाहती हूं। मुझे मेरी ऑडिएंस भी कहती है कि मैं सिर्फ किसी एक इंडस्‍ट्री का हिस्‍सा बनकर न रहूं।

Q-आप ने कहा कि आपको फिल्म ‘पिंक’ और ‘बदला’ बेहद पसंद आई, क्या हिंदी में ऐसी फिल्में आपकी प्रायोरि‍टी रहेंगी?

A-मैं हर तरह की फिल्‍में करूंगी, कमर्शियल फिल्‍में भी करूंगी, हीरोइन केंद्रित फिल्‍में भी करूंगी। साथ ही जहां हीरो ही सब कुछ है, वह भी करूंगी। मैं हर सिंगल जॉनर में हाथ रखूंगी।

Q-‘मिशन मजनू’ के सेट पर सिद्धार्थ मल्‍होत्रा ने कभी आपके साथ प्रैंक किया?

A-बिल्‍कुल नहीं, बल्कि उनका साथ काफी मस्‍ती भरा रहा। सेट पर किसी ने मुझे नया फील नहीं होने दिया। लखनऊ की मिठाइयों से भी मुझे मुहब्‍बत हो गई है। हम सब साथ में ही ब्रेकफास्‍ट और डिनर करते थे और नाइट शूट में फुर्सत के समय क्रिकेट खेला करते थे। सेट पर मस्‍ती का माहौल रहता था। हम सब क्रिकेट खेलते और शूट करते रहते थे। पूरे शेड्यूल में यही सब चलता रहता था।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply