सोनभद्र में हादसा: पॉवर कारपोरेशन की लैंको परियोजना में बॉयलर गिरा, 16 मजदूरों को रेस्क्यू कर बाहर निकाला गया

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सोनभद्र18 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
हादसे के बाद यूनिट के बाहर जुटे श्रमिकों के परिजन। - Dainik Bhaskar

हादसे के बाद यूनिट के बाहर जुटे श्रमिकों के परिजन।

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में स्थित 1200 मेगावाट की अनपरा-सी लैंको (Anpara ‘C’ Lanco Thermal Power Station) परियोजना में रविवार सुबह अचानक बॉयलर गिर गया। हादसे के वक्त मौके पर 16 मजदूर काम कर रहे थे। वे बॉयलर के नीचे दब गए। CISF के जवानों ने अन्य मजदूरों की मदद से सभी मजदूरों का रेस्क्यू किया है। 13 मजदूर घायल हुए हैं। जिनमें 5 की हालत गंभीर है। घायलों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

हादसे की खबर पाकर तमाम मजदूर व उनके परिजन यूनिट के बाहर जुट गए। वे परियोजना के भीतर हादसा स्थल पर जाने की जिद करने लगे। पुलिस ने उन्हें रोका तो नारेबाजी की गई। पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि समझा बुझाकर लोगों को शांत कर दिया गया है।

घायलों के परिजन प्लांट के भीतर जाने की जिद पर अड़े।

घायलों के परिजन प्लांट के भीतर जाने की जिद पर अड़े।

80 मीटर की ऊंचाई पर काम कर रहे थे मजदूर

जानकारी के अनुसार, 1200 मेगावाट की अनपरा सी लैंको परियोजना में 600 मेगावाट की यूनिट नंबर 2 के बॉयलर अनुरक्षण के लिए 80 मीटर ऊंचाई मजदूर काम कर रहे थे। इसी दौरान अचानक बॉयलर गिर गया। इससे आसपास काम कर रहे 16 मजदूर दब गए। इसके बाद मौके पर अफरा-तफरी मच गई। करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद सभी मजदूरों को बाहर निकाल कर उन्हें नेहरू अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां इलाज चल रहा है।

लैंको अनपरा पॉवर प्लांट की स्थापना 2008 में हुई थी। हादसे के बाद मौके पर तैनात फोर्स।

लैंको अनपरा पॉवर प्लांट की स्थापना 2008 में हुई थी। हादसे के बाद मौके पर तैनात फोर्स।

सोनभद्र जनपद में 10 हजार मेगावाट से ज्यादा बिजली पैदा की जाती है।

सोनभद्र जनपद में 10 हजार मेगावाट से ज्यादा बिजली पैदा की जाती है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply