शूटिंग कोच संजय चक्रवर्ती का निधन: देश को ओलिंपिक मेडलिस्ट गगन नारंग और अंजली भागवत जैसे शूटर्स दिए; द्रोणाचार्य अवॉर्ड से भी नवाजे जा चुके

  • Hindi News
  • Sports
  • Sanjay Chakravarty, Noted Shooting Coach Of Olympic Medallist Gagan Narang And Anjali Bhagwat Died In Mumbai

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली30 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
कोच संजय चक्रवर्ती (बीच में) के साथ सुमा शिरुर (बाएं) और गगन नारंग (पीछे)। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar

कोच संजय चक्रवर्ती (बीच में) के साथ सुमा शिरुर (बाएं) और गगन नारंग (पीछे)। (फाइल फोटो)

भारत के शूटिंग कोच संजय चक्रवर्ता का शनिवार रात को निधन हो गया। वे 79 साल के थे। उन्होंने देश को ओलिंपिक मेडलिस्ट गगन नारंग और अंजली भागवत जैसे कुछ शानदार शूटर्स दिए। संजय को द्रोणाचार्य अवॉर्ड से भी नवाजा जा चुका है।

NRAI ने संजय के निधन पर दुख जताया
संजय ने 4 दशक के करियर में कई शूटर्स को उनका करियर बनाने में मदद की। नेशनल राइफल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (NRAI) ने उनके निधन पर शोक जताया। उन्होंने कहा, वे संजय सर के नाम से मशहूर थे। संजय की काफी समय से तबियत खराब थी। उन्होंने देश को कई शूटर्स दिए। इनमें से कई अभी राजीव गांधी खेल रत्न और अर्जुन अवॉर्डी है। इंटरनेशनल मेडल जीत चुके कई खिलाड़ियों को उन्होंने ट्रेनिंग दी। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।

जॉयदीप कर्माकर ने भी दी श्रद्धांजलि
संजय की निधन की खबर सबसे पहले ओलिंपियन जॉयदीप कर्माकर ने सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए दी। उन्होंने लिखा, भारी दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि द्रोणाचार्य अवॉर्डी शूटिंग कोच और मेंटर संजय चक्रवर्ती सर का मुंबई में निधन हो गया। हमने एक महान इंसान को खो दिया।

संजय सर वास्तव में द्रोणाचार्य थे: सुमा शिरुर
ओलिंपियन और मौजूदा इंडियन राइफल टीम की परफॉर्मेंस कोच सुमा शिरुर ने भी शोक संवेदना प्रकट की। उन्होंने लिखा, मुझे एक वास्तव के द्रोणाचार्य को खोने का बहुत दुख है। उन्होंने एक नहीं, बल्कि मुझे मिलाकर कई अर्जुन बनाए और कभी गुरु दक्षिणा की मांग नहीं की। भारतीय शूटिंग ने अपने अग्रणी दल में से एक को खो दिया है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply