राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश सहित 10 राज्यों में लू चलने की अलर्ट, जानें कब से है बारिश का पूर्वानुमान

Weather Forecast Today

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव एम राजीवन ने शुक्रवार को ट्वीट किया, आज मानसून के पूर्वानुमान की तैयारियों की समीक्षा की. अगले कुछ दिनों में नई पूर्वानुमान रणनीति जारी की जाएगी. गौरतलब है कि भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) हर साल मानसून का पूर्वानुमान (Monsoon Forecast) जारी करता है. पहला पूर्वानुमान मध्य अप्रैल तक जारी किया जाता है, जबकि दूसरा पूर्वानुमान जून के पहले सप्ताह तक जारी किया जाता है. जिसमें जून से सितंबर तक यानि चार महीने की बारिश के मौसम को लेकर संकेत मिलता है कि मानसून कैसा रहेगा जो कृषि क्षेत्र के लिए बेहद महत्वपूर्ण होता है.

वहीं, मौसम की गर्मी ने इस साल अभी से अपने रंग दिखाने शुरू कर दिए हैं. मौसम विभाग ने 3 अप्रैल को राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश सहित दस राज्यों में लू चलने की अलर्ट जारी की गई है. मौसम विभाग के अनुसार उत्तराखंड में चार, पांच और छह अप्रैल को पर्वतीय हिस्सों में बारिश और बर्फबारी का पूर्वानुमान है. छह अप्रैल के बाद बारिश में वृद्धि की भी संभावना है. इसके अलावा, मौसम विभाग के अनुसार झारखंड के कई इलाकों में हल्की बारिश के साथ वज्रपात की भी संभावना है. ऐसे में आइए निजी मौसम एजेंसी स्काइमेट वेदर के अनुसार जानते हैं आगामी 24 घंटों के मौसम का पूर्वानुमान-

अगले 24 घंटों के दौरान मौसम की संभावित गतिविधि

अगले 24 घंटों के दौरान, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह पर गरज के साथ मध्यम से भारी बारिश जारी रहेगा. पूर्वी असम और अरुणाचल प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. शेष पूर्वोत्तर भारत में हल्की बारिश जारी रहेगी. केरल और आंतरिक तमिलनाडु में एक या दो मध्यम से हल्की बारिश संभव है. गंगीय पश्चिम बंगाल, ओडिशा के कुछ हिस्सों और झारखंड के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. तटीय आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, ओडिशा, तेलंगाना, कच्छ और गंगीय पश्चिम बंगाल के कुछ इलाकों में हीटवेव की स्थिति होने की उम्मीद है.

देशभर में बने मौसमी सिस्टम

उत्तरी अंडमान समुद्र के मध्य और आस-पास के हिस्सों में डिप्रेशन बना हुआ है. यह एक गहरे डिप्रेशन बनेगा और म्यांमार तट की ओर बढ़ेगा.

बंगाल के दक्षिण-पश्चिम की खाड़ी और उससे सटे श्रीलंका तट पर एक चक्रवाती सर्कुलेशन बना हुआ है. एक चक्रवाती सर्कुलेशन दक्षिण असम में निचले स्तर पर है. एक उत्तर दक्षिण ट्रफ आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में छत्तीसगढ़ से तमिलनाडु तक फैला हुआ है.

Source link

Leave a Reply