राकेश टिकैत पर हमला करने के आरोप में 16 युवक गिरफ्तार, BJP बोली पुलिस की मौजूदगी में हमला, जांच का विषय

Rakesh Tikait

Rakesh Tikait

राजधानी दिल्ली में कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है. इसके चलते किसान नेता राकेश टिकैत देश के कई हिस्सों का दौरा कर रहे हैं, लेकिन हैरानी की बात यह है कि इस बार दौरे करते वक्त राकेश टिकैत के काफिले पर हमला किया गया है. इसके बाद राकेश टिकैत ने बीजेपी पर आरोप लगाया है, उन्होंने कहा कि बीजेपी द्वारा उन पर जानलेवा हमला कराया गया है.

गाड़ी रुकवाकर किया हमला

बीते दिन राजस्थान के अलवर जिले के तातरपुर चौराहे पर किसान नेता राकेश टिकैत के काफिले पर हमला किया गया था. पहले कुछ लोगों ने स्वागत के बहाने उनकी गाड़ी रुकवाई और फिर हमला कर दिया. इसके दौरान उन पर स्याही फेंकी गई थी. इसके साथ ही कार के शीशे भी फोड़ दिए गए. इस हमले के बाद राकेश टिकैत ने ट्वीट कर भाजपा पर आरोप लगाया था. उनका आरोप था कि भाजपा द्वारा उनके ऊपर हमला किया गया है.

33 लोगों ने हमला किया था, 16 गिरफ्तार

राकेश टिकैत के काफिले पर शाम 33 लोगों द्वारा हमला किया था. इस मामले में पुलिस ने ABVP के कार्यकर्ता कुलदीप सिंह यादव समेत 16 लोगों को गिरफ्तार किया है. एफआईआर की मानें, तो राकेश टिकैत के स्वागत करने के बहाने गाड़ी रुकवाई गई और उसके बाद लाठी से कार का शीशा तोड़ दिया गया. इसके अलावा राकेश टिकैत पर काली स्याही भी फेंकी गई. ये हमला उस वक्त हुआ था, जब वो सावली में सभा करने के बाद बानसूर में सभा करने जा रहे थे.

हमले को लेकर भाजपा ने दी अपनी प्रतिक्रिया     

इस पूरे मामले में राजनीति काफी गर्म हो गई है. एक तरफ इस पूरे हमले को लेकर लिए बीजेपी पर आरोप लगाया जा रहा है, तो वहीं दूसरी तरफ बीजेपी ने भी इस हमले को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है. बीजेपी का कहना है कि इस हमले से उनकी पार्टी का कोई लेना-देना नहीं है. इसके साथ ही बीजेपी ने पुलिस पर सवाल उठाया है कि ये पूरी घटना पुलिस की मौजूदगी में हुई थी, तो आखिर पुलिस वहां मूकदर्शक क्यों बनी रही?

जानकारी के लिए बता दें कि इस हमले को लेकर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी बीजेपी पर हमला बोला है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि अलवर में भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत जी के काफिले पर BJP के लोगों द्वारा हमला निंदनीय है, दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी. BJP किसान आंदोलन की शुरुआत से ही किसानों के हक में संघर्ष करने वालों के प्रति अनर्गल बयानबाजी, अलोकतांत्रिक बर्ताव कर रही है, जोकि शर्मनाक है.”  इसके अलावा अधिकतर लोग ट्विटर पर Stop Attack For Farmer Leader लिखकर किसान आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं.

Source link

Leave a Reply