IPL पर कोरोना संकट: हर खिलाड़ी की होगी GPS टैगिंग, बायो बबल से बाहर आते ही अलर्ट कर देगा सिस्टम

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। 9 अप्रैल से IPL-2021 की शुरुआत होने वाली है। लीग का पहला मैच 9 अप्रैल को डिफेंडिंग चैम्पियन मुंबई इंडियंस और रॉयल चैलेंजर्स बेंललुरु के बीच खेला जाएगा। फाइनल मुकाबला 30 मई को होगा, लेकिन इससे पहले कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराने का फैसला किया है। इसके तहत GPS डिवाइस की मदद से बायो बबल में मौजूद हर खिलाड़ी की मॉनिटरिंग की जाएगी। साथ ही टूर्नामेंट के दौरान हर टीम के साथ 4-4 कोविड ऑफिसर नियुक्ति किए गए हैं।

रिस्टबैंड या चेन से बायो-बबल की हद का पता चलेगा
खिलाड़ी पर नजर रखने के लिए उन्हें ट्रैकिंग डिवाइस दी जाएगी। यह डिवाइस रिस्ट बैंड या चेन के रूप में होगी जो हमेशा खिलाड़ियों को होटल कमरे से बाहर निकलने पर पहननी होगी। यह डिवाइस खिलाड़ियों को जाने-अनजाने में बायो बबल तोड़ने से रोकने में मदद भी करेगी। इससे खिलाड़ियों को बायो-बबल का दायरा पता चलेगा। जैसे ही खिलाड़ी बायो-बबल एरिया से बाहर होंगे, तो इस डिवाइस से आवाज आएगी और खिलाड़ी अलर्ट हो सकेंगे।

बायो बबल तोड़ने पर फिर से 7 दिन रहना होगा क्वारैंटाइन
डिवाइस सेंट्रल पैनल से जुड़ा होगा। इससे बोर्ड को पता चल सकेगा कि किस खिलाड़ी ने बायो-बबल का उल्लंघन किया है। बायो-बबल का उल्लंघन करने पर खिलाड़ी को फिर से 7 दिन क्वारैंटाइन रहना होगा और कोरोना की जांच करानी होगी। कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही दोबारा बायो-बबल में प्रवेश मिलेगा।

खिलाड़ी को हेल्थ ऐप पर रोजाना देना होगा अपडेट
खिलाड़ी और उनके साथ रुकने वाले परिजनों को रोजाना सुबह हेल्थऐप पर अपडेट देना होगा, ताकि BCCI की मेडिकल टीम नजर रख सके। हालांकि अभी टीमों को ऐप की डिटेल्स नहीं दी गई है। हेल्थ ऐप पर उन्हें नियमित तौर पर बॉडी टेम्प्रेचर की जानकारी देनी होगी। साथ ही हर सवाल का जवाब देना होगा।

टीमें खुद तैयार कर रहीं बायो बबल
सभी टीमों को होटल में खुद बायो-बबल तैयार करना है। कई टीमों का प्रबंधन मार्च की शुरुआत से ही बायो बबल तैयार करने में जुटा हुआ है। IPLके वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक मुंबई इंडियंस सहित कई टीमों ने पूरा होटल बुक कर बायो बबल तैयार किया है।

होटल कर्मचारी सहित टैक्सी और बस ड्राइवर तक रहे 14 दिन क्वारैंटाइन
जिन होटलों में खिलाड़ी ठहरे हैं वहां के सभी कर्मचारी और खिलाड़ियों की बस के ड्राइवर को 14 दिन का क्वारैंटाइन रखा गया है। इस बीच उनकी नियमित कोरोना जांच भी की गई। निगेटिव रिपोर्ट आने पर ही इनकी ड्यूटी लगाई गई। पूरे IPL के दौरान ये बायो बबल से बाहर नहीं जा सकते हैं। अपने घर भी नहीं।

Source link

Leave a Reply