बंगाल में व्हीलचेयर पॉलिटिक्स: ममता बनर्जी की चोट पर संबित पात्रा का तंज, बेचारा पैर… खुद बता रहा है कि वह कितने दर्द में है

  • Hindi News
  • National
  • On The Injury Of Bengal CM Mamta Banerjee, Patra’s Stance, Poor Feet … Hill Hill Is Telling .. How Much Pain She Is

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पैर में लगी चोट पर भाजपा नेता और प्रवक्ता संबित पात्रा ने तंज किया है। पात्रा ने अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा है, बेचारा पैर… हिल-हिल कर बता रहा है.. वह कितने दर्द में है।

क्या है इस वीडियो में
दरअसल, इस वीडियो में व्हीलचेयर पर बैठीं ममता बनर्जी को अपने चोटिल पैर को बार-बार हिलाते हुए देखा जा सकता है। बताया जा रहा है कि यह वीडियो नंदीग्राम में एक TMC कार्यकर्ता के घर का है। ममता यहां कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर रही थीं।

इस दौरान ममता बनर्जी व्हीलचेयर पर बैठी हुई हैं। सामने एक टेबल लगा है। इसके नीचे ममता अपने बैंडेज लगे चोटिल पैर को तेजी से हिलाते हुए पार्टी वर्कर्स से बांग्ला में बात कर रही हैं। वीडियो में एक मौका ऐसा भी आता है, जब वो अपने दूसरे वाले पांव को चोटिल पांव के ऊपर चढ़ा देती हैं और तब भी वे किसी तरह की तकलीफ में नहीं दिखाई दे रही हैं।

व्हीलचेयर पर ही प्रचार और रोड शो में लगी हुई हैं दीदी
ममता बनर्जी ने नंदीग्राम में 10 मार्च को नामांकन दाखिल किया था। उसी दिन यानी बुधवार की शाम को नंदीग्राम के बिरुलिया में लोगों से मिलने के दौरान ममता के पैर में चोट लग गई थी। ममता ने BJP के लोगों पर इसका आरोप लगाया था। इसके बाद उन्हें कोलकाता के SKM हॉस्पिटल में तीन दिन तक एडमिट रहना पड़ा।

डॉक्टरों ने उनके पैर पर प्लास्टर चढ़ाया था। हालांकि ममता ने अस्पताल से ही एक वीडियो जारी कर व्हीलचेयर पर ही चुनाव प्रचार करने की घोषणा की थी। 13 मार्च को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज हुई ममता ने 14 मार्च से व्हीलचेयर पर बैठकर ही चुनाव अभियान शुरू किया।

नंदीग्राम में राष्ट्रगान के लिए खड़ी हुईं थीं
नंदीग्राम में बीते मंगलवार को प्रचार के आखिरी दिन ममता बनर्जी प्लास्टर बंधे पैर के साथ करीब 20 दिन बाद व्हीलचेयर से उठ खड़ी हुईं। दरअसल, नंदीग्राम के तेंगुआ में एक रैली के दौरान राष्ट्रगान की तैयारी चल रही थी। इसी दौरान उनके सहयोगियों ने उन्हें खड़े होने का सुझाव दिया। पहले तो ममता ने खड़े होने में परेशानी महसूस की, लेकिन बाद में कुछ लोगों के सपोर्ट से वह खड़ी हुईं और राष्ट्रगान गाया।

ममता बनर्जी तीन दिन पहले भी नंदीग्राम में अपने पैरों पर खड़ी हुई थीं।

ममता बनर्जी तीन दिन पहले भी नंदीग्राम में अपने पैरों पर खड़ी हुई थीं।

भाजपा और कांग्रेस नेताओं ने बताया था नौटंकी
ममता की चोट पर भाजपा और कांग्रेस नेताओं ने सहानुभूति पाने का जरिया बताया था। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और बंगाल में पार्टी के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय और पश्चिम बंगाल कांग्रेस के अध्‍यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने इसे ममता की नौटंकी करार दिया था।

अधीर रंजन ने कहा था कि ममता नाटक करने में माहिर हैं। इस बार बंगाल की जनता उनके झांसे में नहीं आने वाली। भाजपा के सांसद और भोजपुरी अभिनेता रवि किशन ने भी दीदी के 3 दिन के अंदर ही प्‍लास्‍टर हटाने पर सवाल उठाया था।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply