नहीं हटेगा अंपायर्स कॉल: ICC क्रिकेट कमेटी ने इसे जारी रखने का फैसला किया; DRS के नियम में 3 बदलाव, विकेट जोन बढ़ने से बल्लेबाजों को होगी दिक्कत

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली9 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
DRS नियमों में 3 बदलाव किए गए। - Dainik Bhaskar

DRS नियमों में 3 बदलाव किए गए।

भारत और इंग्लैंड के बीच हाल ही में हुए क्रिकेट सीरीज में डिसीजन रिव्यू सिस्टम (DRS) काफी विवादों में रहा था। इसमें LBW पर अंपायर्स कॉल को लेकर काफी सवाल उठे थे। साथ ही DRS के नियम पर दोबारा विचार करने की भी मांग उठी थी। पर इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने अंपायर्स कॉल को जारी रखने का फैसला किया है। ICC क्रिकेट बोर्ड और क्रिकेट कमेटी ने साथ ही DRS के 3 नियमों में बदलाव किए हैं। LBW के लिए विकेट जोन का दायरा बढ़ाया गया है। साथ ही शॉर्ट रन के मामले में टीवी अंपायर को और ज्यादा पावर दिया गया है।

इंटरनेशनल क्रिकेट में जारी रहेगा अंपायर्स कॉल
गुरुवार को ICC ने बोर्ड मीटिंग की। मीटिंग के बाद ICC क्रिकेट कमेटी के अध्यक्ष अनिल कुंबले ने कहा कि अंपायर्स कॉल को लेकर काफी चर्चा हुई और इसका रिव्यू भी किया गया। DRS का मतलब मैच के दौरान होने वाले गलतियों को सही करना है। इसमें मैदान पर अंपायर के फैसले को तवज्जो दी गई है। अंपायर्स कॉल का यही रोल है। इसलिए हमने इसे जारी रखने का फैसला किया।

अंपायर्स कॉल को लेकर कोहली ने सवाल उठाए थे।

अंपायर्स कॉल को लेकर कोहली ने सवाल उठाए थे।

ICC ने DRS में LBW रिव्यू के नियमों में बदलाव किए
इसके साथ ही ICC ने DRS में LBW रिव्यू के नियमों में कुछ बदलाव किए हैं। नए नियम के मुताबिक LBW के रिव्यू के लिए विकेट जोन की ऊंचाई को बढ़ाकर स्टंप के सबसे ऊपरी छोर तक कर दिया गया है। इसका मतलब यह हुआ कि अब रिव्यू लेने पर बेल्स के ऊपर तक की ऊंचाई पर गौर किया जाएगा।

नए नियम से विकेट जोन की ऊंचाई बढ़ जाएगी
अगर बॉल का 50% हिस्सा बेल्स के सबसे ऊपरी हिस्से को मिस कर रहा होगा, तो उसे अंपायर्स कॉल दिया जाएगा। वहीं, पहले के नियम में बेल्स के निचले हिस्से तक की ऊंचाई पर गौर किया जाता था। यानी अगर बॉल का 50% हिस्सा बेल्स के सबसे निचले हिस्से को छू रहा है, तो अंपायर्स कॉल होता था। नए नियम से विकेट जोन की ऊंचाई बढ़ जाएगी।

पहले स्टंप की हाइट को ही मैक्सिमम माना जाता था।

पहले स्टंप की हाइट को ही मैक्सिमम माना जाता था।

LBW रिव्यू लेने से पहले खिलाड़ी अंपायर से पूछ सकेगा
दूसरा बदलाव भी ICC ने LBW के ही रिव्यू को लेकर किया। इसके मुताबिक अंपायर के फैसले पर रिव्यू लेने से पहले खिलाड़ी अंपायर से बातचीत कर पूछ सकेगा कि क्या बल्लेबाज ने गेंद को खेलने की सही कोशिश की थी या नहीं। इससे उसे रिव्यू लेने में आसानी होगी और रिव्यू बर्बाद नहीं होगा।

शॉर्ट रन का फैसला अब थर्ड अंपायर के हाथों में
तीसरा बदलाव ICC ने शॉर्ट रन को लेकर किया। नए नियम के मुताबिक शॉर्ट रन का फैसला टीवी अंपायर करेगा। ICC ने बयान में कहा कि थर्ड अंपायर रीप्ले में इसकी समीक्षा करेगा। अगर कोई गलती होती है, तो अगली गेंद फेंके जाने से पहले इसे सही करेगा।

पंजाब के जॉर्डन का यह रन काफी विवादों में आया था।

पंजाब के जॉर्डन का यह रन काफी विवादों में आया था।

पंजाब किंग्स को IPL 2020 में चुकानी पड़ी थी कीमत
दरअसल IPL 2020 के दौरान पंजाब किंग्स को एक गलत शॉर्ट रन के फैसले की कीमत चुकानी पड़ी थी। लीग राउंड के दौरान दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ मैच में मयंक अग्रवाल और क्रिस जॉर्डन बल्लेबाजी कर रहे थे। तब अंपायर ने जॉर्डन के एक रन का शॉर्ट रन बताया था। इसके कारण मुकाबला सुपरओवर में गया। सुपरओवर में दिल्ली ने पंजाब का हरा दिया था। साथ ही एक हार के कारण पंजाब प्लेऑफ से बाहर हो गई थी।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply