महाराष्ट्र में संक्रमण रोकने का नया तरीका: नासिक में लोगों को 5 रुपए का टिकट लेकर बाजार में एंट्री मिलेगी, 1 घंटे से ज्यादा रुके तो 500 रुपए फाइन

  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Mumbai Pune Corona Cases Today | Maharashtra Coronavirus Unlock 2.0 District Wise Updates; Mumbai Thane Pune Nashik Solapur Aurangabad Nagpur Latest News, Nashik

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई13 घंटे पहले

महाराष्ट्र के नासिक में पुलिस ने करोना संक्रमण रोकने की कोशिशों में एक नया तरीका निकाला है। नासिक पुलिस कमिश्नर दीपक पांडे का कहना है कि है कि जो भी व्यक्ति बड़े बाजार, शॉपिंग मॉल या भीड़भाड़ वाली जगह पर जा रहे हैं तो उन्हें सबसे पहले 5 रुपए का एंट्री टिकट लेना होगा, यह एक घंटे तक ही वैलिड रहेगा। अगर कोई इससे ज्यादा समय बाजार में रहेगा तो उस पर 500 रुपए का फाइन लगेगा।

पुलिस का मानना है कि इस तरह से नासिक के बाजारों में भीड़ को कंट्रोल करने में मदद मिलेगी और कोरोना के मामल बढ़ने से रोके जा सकेंगे। लोग बहुत जरूरत पड़ने पर ही घरों से बाहर निकलेंगे और फाइन के डर से जल्दी घर लौटेंगे।

नासिक में 84.24% मरीज ठीक हुए
नासिक जिला अस्पताल की मंगलवार की रिपोर्ट के मुताबिक जिले में 1 लाख 47 हजार 141 कोरोना मरीज ठीक हो गए हैं। अब 25,190 मरीजों का इलाज चल रहा है और अब तक 2,351 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। जिले में मरीजों के ठीक होने का प्रतिशत नासिक ग्रामीण में 83%, नासिक शहर में 85.18%, मालेगांव में 78.75% है। ओवरऑल 84.24% मरीज रिकवर हो चुके हैं।

महाराष्ट्र के 8 शहरों में सबसे ज्यादा कोरोना के मरीज
देश में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। पिछले 24 घंटे में 56,000 से ज्यादा नए केस आए हैं और 271 लोगों की मौत हुई है। हालांकि, इनमें से ज्यादातर केस देश के कुछ राज्यों से ही आए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि देश के सबसे ज्यादा एक्टिव मरीजों वाले 10 जिलों में 8 महाराष्ट्र के हैं। इनमें पुणे, मुंबई, नागपुर, ठाणे, नासिक, औरंगाबाद, नांदेड़, अहमदनगर शामिल हैं।

CM की पत्नी कोरोना के इलाज के अस्पताल में भर्ती
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की पत्नी रश्मि ठाकरे को मंगलवार को कोरोना के इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। मुख्यमंत्री के परिवार के करीबी सूत्रों ने यह जानकारी दी। इससे पहले एक अधिकारी ने बताया था कि 22 मार्च की रात को रश्मि ठाकरे के संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी और उसके बाद से वे घर में क्वारैंटाइन थीं। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और रश्मि ठाकरे ने 11 मार्च को कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लिया था।

80% ऑक्सीजन सिर्फ हॉस्पिटल्स को देने का आदेश

ऑक्सीजन की बढ़ती जरूरत को देखते हुए महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग ने कुल ऑक्सीजन का 80% हिस्सा मेडिकल सर्विस के लिए और बचा हुआ 20% इंडस्ट्रियल यूज के लिए सप्लाई करने का निर्देश दिया है। यह भी कहा गया है कि अगर मेडिकल सर्विसेज के लिए 80% से ज्यादा ऑक्सीजन की जरूरत होगी तो भी सप्लाई करनी पड़ेगी।

मुंबई में एक मॉल के बाहर टेस्टिंग के लिए सैंपल लेती हुई BMC की हेल्थवर्कर। महाराष्ट्र में कोरोना के केस तेजी से बढ़ने की वजह से सरकार अगले कुछ दिनों में सख्ती बढ़ा सकती है।

मुंबई में एक मॉल के बाहर टेस्टिंग के लिए सैंपल लेती हुई BMC की हेल्थवर्कर। महाराष्ट्र में कोरोना के केस तेजी से बढ़ने की वजह से सरकार अगले कुछ दिनों में सख्ती बढ़ा सकती है।

महाराष्ट्र में कम टेस्टिंग की वजह से मिले कम मरीज
महाराष्ट्र में मंगलवार को कोरोना के 27,918 नए मामले सामने आए। नए मामलों की संख्या में कमी की वजह टेस्टिंग कम होना माना जा रहा है। मंगलवार को 1 लाख 29 हजार 876 सैंपल की जांच की गई, जबकि एक दिन पहले 1 लाख 36 हजार 848 टेस्ट हुए थे। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक संक्रमण से मरने वालों की संख्या 54,422 पहुंच गई है।

मुंबई में एक महीने में बढ़े 37 हजार एक्टिव पेशेंट
मुंबई में 1 मार्च को कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 9 हजार 960 थी, जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा था। 29 मार्च को यह संख्या बढ़कर 47 हजार 453 पहुंच गई है, इससे साफ होता है कि अस्पताल में 37 हजार 763 एक्टिव मरीज एक महीने में बढ़ गए हैं। रोजाना 6 से 7 हजार नए मरीज सामने आ रहे हैं।

कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए मुंबई के सभी बीच पर लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई है।

कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए मुंबई के सभी बीच पर लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई है।

मुंबई में फिलहाल लॉकडाउन नहीं
BMC कमिश्नर आई.एस. चहल का कहना है कि मुंबई में तुरंत लॉकडाउन की कोई योजना नहीं है। बल्कि 15 दिन बाद कोरोना की स्थिति की समीक्षा की जाएगी। उसके बाद लॉकडाउन को लेकर फैसला लिया जाएगा।

सरकार की सहयोगी कांग्रेस भी लॉकडाउन के खिलाफ
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की राज्य में लॉकडाउन की चेतावनी के खिलाफ सरकार में शामिल NCP और कांग्रेस विपक्ष के साथ खड़े नजर आ रहे हैं। NCP का कहना है कि लॉकडाउन विकल्प नहीं हो सकता। वहीं, कांग्रेस ने लॉकडाउन के बजाय सख्ती बरतने की बात कही है। कांग्रेस नेता संजय निरुपम का कहना है कि मुंबई में लॉकडाउन नहीं लगाना चाहिए। मुख्यमंत्री का बार-बार लॉकडाउन की धमकी देना ठीक नहीं है। इससे पहले NCP नेता नवाब मलिक ने भी लॉकडाउन को गैर जरुरी बताया था। BJP भी लॉकडाउन का खुलकर विरोध कर रही है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply