सिंगल यूज प्लास्टिक को री-साइकिल करना चाहता है FSSAI: प्लास्टिक की बोतल को कूड़ाघर में फेंकने की जगह वापस दुकानदार को देने पर मिलेंगे पैसे

  • Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • You Will Get Money For Giving Back To The Shopkeeper Instead Of Throwing The Plastic Bottle In The Trash

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली14 घंटे पहलेलेखक: पवन कुमार

  • कॉपी लिंक
  • खाने की पैकेजिंग वाले प्लास्टिक को री-साइकिल करने से कम होगा कचरा

पर्यावरण में बढ़ते प्लास्टिक कचरे से निपटने के लिए भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) ने वन-पर्यावरण मंत्रालय से खाद्य पदार्थों वाले प्लास्टिक पैकेट री-साइकिल करने की इजाजत मांगी है। एफएसएसएआई ऐसी योजना बना रहा है जिसमें उपभोक्ता प्लास्टिक की बोतल कचरे में फेंकने की जगह दुकानदार को वापस देंगे तो उन्हें कुछ पैसे दिए जाएंगे।

दरअसल, केंद्रीय वन और पर्यावरण मंत्रालय की रोक के कारण प्लास्टिक में पैक खाद्य-पदार्थ के इस्तेमाल के बाद उस प्लास्टिक को दोबारा यूज नहीं कर सकते। एफएसएसएआई ने मंत्रालय को पत्र लिखकर यही रोक हटाने का आग्रह किया है। एफएसएसएआई के मुताबिक देश में जो खाद्य-पदार्थ प्लास्टिक पैकेट में मिल रहे हैं उनमें 43 फीसदी सिंगल यूज प्लास्टिक है। री-साइकिल करने से समाधान हो सकता है।

एफएसएसएआई जल्द कंपनियों के साथ बैठक कर देगा जिम्मेदारी

प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट रूल्स-2018 के तहत सिंगल यूज प्लास्टिक को री-साइकिल करने पर रोक लगा दी गई थी। यह वातावरण में प्लास्टिक कचरे की मात्रा बढ़ने में बड़ी वजह बना। एफएसएसएआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरुण सिंघल ने बताया।

हम पैकेज्ड फूड प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनियों की बैठक बुला रहे हैं। इसमें कंपनियों को यह जिम्मेदारी दी जाएगी कि ऐसे उपभोक्ताओं को कुछ रकम दें जो प्लास्टिक बोतल दुकानदार को वापस करते हैं। साथ ही कंपनियां दुकान से उन बोतलों को उठाने की भी व्यवस्था कराएं।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply