किसान आंदोलन के 4 महीनेः  भारत बंद के आह्वान पर पंजाब, हरियाणा में 32 जगहों पर ट्रेन की आवाजाही बंद

नई दिल्ली । केंद्र सरकार द्वारा लाए गए 3 नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों द्वारा किए गए भारत बंद के आह्वान पर शुक्रवार को पंजाब और हरियाणा में 32 जगहों पर ट्रेन सेवाएं बाधित हुईं। आंदोलन के चलते रेलवे ने 4 शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेनों को रद्द कर दिया है। उत्तर रेलवे के प्रवक्ता दीपक कुमार ने कहा, आंदोलनकारी किसान पंजाब और हरियाणा में 32 जगहों पर बैठे हैं और इससे दिल्ली, अंबाला और फिरोजपुर डिवीजन में रेल यातायात प्रभावित हुआ है। किसानों के आंदोलन के कारण 31 ट्रेनों को रोक दिया है और 4 शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। गौरतलब है कि 26 नवंबर 2020 से चल रहे किसान आंदोलन को आज 26 मार्च 2021 को पूरे चार महीने हो चुके हैं। 

संयुक्ता किसान मोर्चा (एसकेएम) ने गुरुवार को कहा कि उसके भारत बंद आह्वान के चलते शुक्रवार को सभी दुकानें, मॉल, बाजार और वाणिज्यिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। 12 घंटे का बंद सुबह 6 बजे से 6 बजे तक चलेगा। हालांकि, इस दौरान एम्बुलेंस और अन्य आवश्यक सेवाओं पर असर नहीं पड़ने दिया जाएगा।

एसकेएम द्वारा किए गए इस भारत बंद को विभिन्न किसान संगठन, ट्रेड यूनियन, छात्र समूह, वकील संघ, राजनीतिक दल और राज्य सरकारों के कई प्रतिनिधि समर्थन दे रहे हैं। बता दें कि पंजाब, हरियाणा और पश्चिम उत्तर प्रदेश के हजारों किसान दिल्ली की सिंघु, टिकरी और गाजीपुर सीमाओं पर पिछले साल 26 नवंबर से कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग लेकर डेरा डाले हुए हैं।

राहुल गांधी ने भारत बंद को दिया समर्थन

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भारत बंद को अपना समर्थन दिया है और कहा है कि इन कानूनों के विरोध करने का तरीका सत्याग्रह ही है। उन्हें उम्मीद है कि यह विरोध शांतिपूर्ण होगा। शुक्रवार को राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, भारत का इतिहास गवाह है कि सत्याग्रह से ही अन्याय, अहंकार और अत्याचार का अंत होता है। आंदोलन देशहित में शांतिपूर्ण होना चाहिए।

कांग्रेस कृषि कानूनों का विरोध करती रही है और आंदोलनकारी किसानों के समर्थन में है। राहुल गांधी ने भी इसमें हिस्सा लिया था और पंजाब और राजस्थान में ट्रैक्टर यात्रा की थी। पार्टी किसानों के समर्थन में देश भर में विरोध प्रदर्शन आयोजित करती रही है।

इस बीच सैकड़ों किसानों ने 3 विवादास्पद कृषि कानूनों को लेकर चल रहे विरोध के 4 महीने पूरे होने पर शुक्रवार को 12 घंटे के लिए किए गए भारत बंद के तहत दिल्ली-उत्तर प्रदेश गाजीपुर सीमा को भी बंद कर दिया। किसानों ने दिल्ली को गाजियाबाद से जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग 24 को भी बंद कर दिया है। किसान तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर हाईवे पर बैठे हुए हैं।

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने एक ट्वीट में कहा है, गाजीपुर बॉर्डर एनएच-24 पर यातायात बंद है, कृपया यहां से आने से बचें। संयुक्ता किसान मोर्चा (एसकेएम) ने गुरुवार को कहा कि उसके भारत बंद आह्वान के चलते शुक्रवार को सभी दुकानें, मॉल, बाजार और वाणिज्यिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। 12 घंटे का बंद सुबह 6 बजे से 6 बजे तक चलेगा। हालांकि, इस दौरान एम्बुलेंस और अन्य आवश्यक सेवाओं पर असर नहीं पड़ने दिया जाएगा। एसकेएम द्वारा किए गए इस भारत बंद को विभिन्न किसान संगठन, ट्रेड यूनियन, छात्र समूह, वकील संघ, राजनीतिक दल और राज्य सरकारों के कई प्रतिनिधि समर्थन दे रहे हैं।



Source link

Leave a Reply