सेना प्रमुख बोले- चीन अपने मकसद के लिए छोटे-छोटे बदलाव की कोशिश करता है, भारत के सामने नहीं चलेगा ये पैंतरा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। LAC विवाद पर सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने चीन को हिदायत दी है। सेना प्रमुख ने कहा कि चीन की ये आदत है कि वह अपने उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए छोटे-छोटे बदलाव की कोशिश करता है, मगर उसकी यह रणनीति भारत के साथ काम नहीं करेगी। पब्लिक पॉलिसी थिंक-टैंक विवेकानंद इंटरनेशनल फाउंडेशन द्वारा आयोजित एक वेबिनार को संबोधित करते हुए, नरवणे ने ये बात कही है।

लद्दाख में भारत के संकल्प का जिक्र करते हुए सेना प्रमुख ने कहा, मुझे लगता है कि किसी भी चीज से ज्यादा, जो हमने हासिल किया है, वह यह दर्शाता है कि यह रणनीति हमारे साथ काम नहीं करेगी और उनकी हर चाल से सख्ती से निपटा जाएगा। हाल ही में पैंगोग झील क्षेत्र से सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया को एक जीत की स्थिति बताते हुए सेना प्रमुख ने पूर्वी लद्दाख में अन्य क्षेत्रों के बारे में चेताया।

नरवणे ने कहा कि अभी भी कुछ मुद्दे हैं, जो डेपसांग के क्षेत्रों में बने हुए हैं। उन्होंने कहा, रक्षा मंत्री ने खुद संसद में अपने उल्लेख में इसके बारे में बताया है। पूर्वी लद्दाख के क्षेत्रों और वास्तविक नियंत्रण रेखा के साथ अन्य क्षेत्रों में कुछ मुद्दे लंबित हैं। लेकिन हमारे पास इसके लिए रणनीतियां हैं। लद्दाख में अपनी पकड़ मजबूत बनाए रखने के लिए सेना प्रमुख ने भारतीय सैनिकों की प्रशंसा भी की।

सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया शुरू होने के बावजूद सेना प्रमुख ने अभी भी पूरी तरह से चीन पर विश्वास नहीं जताया है। उन्होंने सावधानी बरतने की बात कही है। नरवणे ने कहा, हम जो कुछ भी कर रहे हैं, मगर फिर भी हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि हमें सावधान रहना होगा। हमें विश्वास की कमी के कारण बहुत सतर्क रहना होगा। जब तक कि विश्वास की कमी को दूर नहीं किया जाता है, हम बहुत सावधान रहेंगे और जो भी कदम उठाए जाते हैं, उन्हें देखते रहना चाहिए।

Source link

Leave a Reply