योगासन स्पोर्ट्स के बारे में जानिए-: प्राणायाम और ध्यान खेल का हिस्सा नहीं, हर कैटेगरी में अलग स्कोरिंग सिस्टम

  • Hindi News
  • Sports
  • Yog Pranayama And Meditation Are Not Part Of The Game, Different Scoring System In Every Category

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली24 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
हाल ही में खेलमंत्रालय ने योग को खेल की मान्यता दी है। साथ ही इसे खेलो इंडिया गेम्स में भी इसे शामिल किया गया है। - Dainik Bhaskar

हाल ही में खेलमंत्रालय ने योग को खेल की मान्यता दी है। साथ ही इसे खेलो इंडिया गेम्स में भी इसे शामिल किया गया है।

पिछले माह खेल मंत्रालय से मान्यता प्राप्त नेशनल याेगासन स्पाेर्ट्स फेडरेशन (एनवाईएसएफ) ने काम शुरू कर दिया है। मप्र में 4 से 19 मार्च के बीच राज्य स्तरीय ऑनलाइन योगासन चैंपियनशिप का आयोजन होगा। आज हम आपको इस नए खेल योगासन स्पोर्ट्स के बारे में वो सब कुछ बताएंगे, जो आपको जानना चाहिए-

योगासन क्या है? यह किन गेम्स में हो चुका है?

योगासन खेल मंत्रालय से मान्यता प्राप्त खेल है। खेलाे इंडिया यूथ गेम्स में इसे शामिल किया गया है। याेगा स्कूल और यूनिवर्सिटी गेम्स में भी शामिल था। प्राणायाम-ध्यान को इससे अलग रखा गया है।

इसमें कौन-कौन हिस्सा ले सकता है?

6 आयु समूहों में होंगे। बालक सब जूनियर (10-15 साल), जूनियर (15-20 साल), सीनियर (20-28 साल), बालिका सब जूनियर (9-14), जूनियर (14-19, सीनियर (19-27 साल)।

प्रतिभागी टूर्नामेंट में कैसे हिस्सा ले सकेंगे?

{एलिजिबिलिटी राउंड: एनवाईएसएफ से संबद्ध प्रतिभागी ही हिस्सा ले सकते हैं। सिलेबस में तय सात (नटराज, चक्रासन, पश्चिमोत्थान, सर्वांगासन, भू-नमस्कार, एक पाद सिरासन, अर्ध मत्स्येंद्रासन) में से पांच आसन करते हुए 10-10 सेकंड के वीडियाे यू-ट्यूब पर अपलाेड करने हांेगे। इसका लिंक एलिजिबिलिटी फाॅर्म में भरकर ऑनलाइन सबमिट करना होगा।

क्वार्टर फाइनल: एलिजबिलिटी राउंड के प्रतिभागियों के अलावा राज्य- नेशनल के मेडल विजेता अधिकतम 70 प्रतिभागियों को एंट्री दी जाएगी।

सेमीफाइनल राउंड: प्रतिभागियों को चार अनिवार्य और तीन वैकल्पिक आसन करने होंगे। इस राउंड से 10 प्रतिभागी फाइनल के लिए चुने जाएंगे।

फाइनल राउंड: प्रतिभागी को दो अनिवार्य, पांच वैकल्पिक आसन करने होंगे। टाॅप-3 काे गाेल्ड, सिल्वर, ब्राॅन्ज मेडल जबकि दाे सांत्वना मेडल मिलेंगे।

किन आसन के कितने अंक दिए जाते हैं?

अनिवार्य आसन की स्कोरिंग 10 अंकों में से होगी। वैकल्पिक आसनों को ए, बी, सी कैटेगरी में बांटा गया है। ए के लिए 11, बी के लिए 12, सी के लिए 13 अंक से स्कोरिंग की जाएगी।

कॉम्पिटीशन के दौरान स्कोरिंग कैसे होगी?

पांच जज, चार रेफरी रहेंगे। स्कोरिंग सॉफ्टवेयर से होगी। जज अलग-अलग अंक देंगे। सॉफ्टवेयर सबसे अधिक और सबसे कम स्कोर को हटाकर बीच के स्कोर को टोटल करके शीट में डाल लेगा।

Source link

Leave a Reply