पेट्रोल-डीजल पर सियासत: बंगाल सरकार ने तेल के दाम 1 रुपए कम किए; सोनिया ने टैक्स घटाने के लिए मोदी को लिखी चिट्ठी

  • Hindi News
  • National
  • Congress Chief Sonia Gandhi Writes To PM Modi; Rising Fuel And LPG Prices, Petrol Price Hike, LPG Price Hike, BJP, Congress, TMC

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
सोनिया गांधी ने कहा कि जल्द से जल्द तेल की कीमतों में की गई बढ़ोतरी को वापस लिया जाए और देश की आम जनता को राहत दी जाए। - Dainik Bhaskar

सोनिया गांधी ने कहा कि जल्द से जल्द तेल की कीमतों में की गई बढ़ोतरी को वापस लिया जाए और देश की आम जनता को राहत दी जाए।

देश में पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों पर सियासत तेज हो गई है। पश्चिम बंगाल में ममता सरकार ने राज्य में तेल की कीमतों में एक रुपए की कमी करने का ऐलान किया है। यह फैसला रविवार आधी रात से लागू होगा। विधानसभा चुनाव को देखते हुए ममता सरकार के इस फैसले को अहम बताया जा रहा है।

वहीं, कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तेल पर लगाए जा रहे टैक्स को घटाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्‌ठी लिखी है। उन्होंने लिखा है कि इनके दाम इन दिनों ऐतिहासिक ऊंचाई पर हैं। मुझे समझ नहीं आता कि कैसे कोई सरकार ऐसे विचारहीन और असंवेदनशील फैसलों को सही ठहरा सकती है। इन फैसलों से देश की जनता पर बोझ बढ़ रहा है।

बढ़े हुए रेट वापस लिए जाएं : सोनिया
सोनिया ने पीएम को चिट्‌ठी में लिखा, ‘मैं आपसे निवदेन करती हूं कि कीमत में बढ़ोतरी को जल्द से जल्द वापस लिया जाए और हमारे मिडिल क्लास, सैलरीड क्लास, हमारे किसानों और गरीबों के साथ देश की आम जनता को राहत दी जाए।’

एक्साइज ड्यूटी पर उठाए सवाल
सोनिया ने लिखा कि बीते साढ़े छह सालों में सरकार ने डीजल पर एक्साइज ड्यूटी 820% और पेट्रोल पर 258% बढ़ाई है। इससे सरकार ने लोगों से 21 लाख करोड़ रुपए कमाए हैं। अब यह पैसा उन लोगों तक पहुंचना चाहिए, जिनके लिए इसे इकट्ठा किया गया है।

देश का मिडिल क्लास मुश्किल में : सोनिया
उन्होंने लिखा कि देश में बड़े पैमाने पर नौकरियां खत्म हुई हैं और लोगों की आय भी कम हुई है। देश का मिडिल क्लास इस वक्त परेशानियों से जूझ रहा है। देश में महंगाई बढ़ी है और जरूरी सामानों की कीमतों में भी इजाफा किया गया है। इससे लोगों की परेशानियां और बढ़ गई हैं, लेकिन इस तरह के मुश्किल हालातों में भी सरकार लोगों की मुसीबतों और परेशानियों से फायदा उठाना नहीं छोड़ रही।

इससे पहले असम में 5 रुपए की कटौती की गई
इससे पहले भाजपा शासित राज्य असम में भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 5 रुपए की कटौती की गई थी। राज्य के वित्त मंत्री हेमंता विश्वासर्मा ने 12 फरवरी को विधानसभा में इसकी घोषणा की थी।

52 दिनों में ही 24 बार बढ़े दाम
इस साल 21 फरवरी तक पेट्रोल-डीजल के रेट में 14 बार बढ़ोतरी हुई है। इस दौरान दिल्ली में पेट्रोल 4.03 रुपए और डीजल 4.24 रुपए महंगा हुआ है। इससे पहले जनवरी में रेट 10 बार बढ़े। इस दौरान पेट्रोल की कीमत में 2.59 रुपए और डीजल में 2.61 रुपए की बढ़ोतरी हुई थी। वहीं अगर 2021 की बात करें तो इस साल अब तक पेट्रोल 6.77 रुपए और डीजल 7.10 रुपए प्रति लीटर महंगा हुआ है।

पेट्रोल-डीजल महंगा होने की 3 वजहें
कच्चा तेल 13 महीनों में सबसे महंगे स्तर पर है। इस साल कच्चा तेल अब तक 23% तक महंगा हो चुका है। 1 जनवरी को ब्रेंट क्रूड का रेट 51 डॉलर प्रति बैरल था। अब यह 63 डॉलर के पार निकल गया है। इसकी वजह यह है कि दुनियाभर में आर्थिक गतिविधियों में पॉजिटिव ग्रोथ देखी जा रही है। इससे फ्यूल डिमांड बढ़ी है। केंद्र सरकार पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी नहीं घटा रही। अगर दिल्ली का उदाहरण लें तो यहां एक लीटर पेट्रोल पर 32.90 रुपए और डीजल पर 31.80 रुपए की एक्साइज ड्यूटी लगती है। राज्य सरकारें पेट्रोल-डीजल पर वैट भी लगाती हैं। जैसे- दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल में वैट के 20.61 रुपए शामिल हैं।

Source link

Leave a Reply