सरकार बनाने-बचाने की जुगत: सियासी उथल-पुथल के बीच राहुल गांधी पुडुचेरी पहुंचे, मछुआरों से कहा-आपके लिए भी दिल्ली में मिनिस्ट्री होनी चाहिए

  • Hindi News
  • National
  • Rahul Gandhi Puducherry Visit Update | Congress Leader Rahul Gandhi Attacks On Narendra Modi Over Three Contentious Farm Laws

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पुडुचेरी10 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
पुडुचेरी में इस साल चुनाव होने हैं। यहां अभी कांग्रेस की सरकार है। 3 विधायकों के इस्तीफे के बाद नारायणसामी सरकार अल्पमत में आ गई है। - Dainik Bhaskar

पुडुचेरी में इस साल चुनाव होने हैं। यहां अभी कांग्रेस की सरकार है। 3 विधायकों के इस्तीफे के बाद नारायणसामी सरकार अल्पमत में आ गई है।

पुडुचेरी में चल रही सियासी उथल-पुथल के बीच कांग्रेस लीडर राहुल गांधी बुधवार को यहां पहुंचे। पुडुचेरी में इस साल चुनाव होना है। यहां अभी कांग्रेस की ही सरकार है। दौरे के पहले दिन राहुल मछुआरों से मिले।

इस दौरान उन्होंने कहा कि सरकार ने किसान विरोधी 3 बिल पास किए हैं। किसान देश की रीढ़ हैं। आप सोच रहे होंगे कि मैं मछुआरों के बीच किसानों के बारे में क्यों बात कर रहा हूं। मैं आपको समुद्र का किसान मानता हूं। अगर दिल्ली में जमीन वाले किसानों की मिनिस्ट्री हो सकती है तो समुद्र वाले किसानों की क्यों नहीं।

मछुआरों के लिए अलग मिनिस्ट्री की बात राहुल ने 2019 में लोकसभा चुनाव से पहले भी उठाई थी। तब उन्होंने कहा था कि अगर कांग्रेस केंद्र में सरकार बनाती है तो मछुआरों के लिए अलग मिनिस्ट्री बनाई जाएगी। उन्होंने केरल के त्रिशुर में हुई नेशनल फिशरमैन पार्लियामेंट में यह बयान दिया था।

केंद्र ने किरन बेदी को LG के पद से हटाया

इस बीच पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव के पहले बड़े सियासी उलटफेर के संकेत मिल रहे हैं। केंद्र सरकार ने यहां की उपराज्यपाल किरण बेदी को हटा दिया है। फिलहाल तेलंगाना की गवर्नर डॉ. तिमिलिसाई सुंदरराजन को पुडुचेरी का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। इससे पहले, सोमवार और मंगलवार को 2 मंत्रियों समेत 4 विधायकों ने वी नारायणसामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार से इस्तीफा दे दिया था।

नारायणसामी और किरन बेदी के बीच अक्सर विवादों की खबरें आती रही हैं। नारायणस्वामी ने बुधवार को कहा कि पिछले 4 साल हमारी सरकार के लिए शांति भरे नहीं थे। किरण बेदी हर दिन प्रशासन के कामों में दखल देकर समस्याएं खड़ी कर रही थीं। अब भाजपा हमारी सरकार को गिराने के लिए विधायकों को तोड़ने की कोशिश कर रही है। 3 विधायकों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है। लोगों को भाजपा के गेम प्लान के बारे में पता है, वे उन्हें चुनाव के दौरान जवाब देंगे।

Source link

Leave a Reply