नवाज का पासपोर्ट एक्सपायर: होम मिनिस्टर बोले- शरीफ चाहें तो 72 घंटे में देश वापसी की मंजूरी मिल जाएगी, प्रत्यर्पण भी संभव

  • Hindi News
  • International
  • Nawaz Sharif Passport Expires; Pakistan Imran Khan Government Refused To Renew Ex PM Passport

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इस्लामाबादएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ नवंबर 2019 में इलाज के लिए लंदन गए थे। इसके बाद से देश नहीं लौटे। मुल्क में पार्टी की कमान फिलहाल उनकी बेटी मरियम नवाज संभाल रही हैं। (फाइल) - Dainik Bhaskar

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ नवंबर 2019 में इलाज के लिए लंदन गए थे। इसके बाद से देश नहीं लौटे। मुल्क में पार्टी की कमान फिलहाल उनकी बेटी मरियम नवाज संभाल रही हैं। (फाइल)

करीब डेढ़ साल से लंदन में इलाज करा रहे पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का पासपोर्ट आज एक्सपायर हो गया। इमरान खान सरकार ने नवाज का पासपोर्ट रिन्यू करने से इंकार कर दिया है। हालांकि, ये जरूर कहा है कि अगर वे देश लौटना चाहते हैं तो 72 घंटे के अंदर उन्हें इसकी मंजूरी मिल जाएगी।

ब्रिटेन जाने से पहले नवाज भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते जेल में थे। ज्यादा तबीयत बिगड़ने पर उन्हें सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद लंदन जाने की मंजूरी मिली थी। अब पाकिस्तान सरकार ब्रिटेन से उन्हें देश भेजने की मांग कर रही है। ब्रिटेन सरकार ने नवाज के प्रत्यर्पण की तीनों मांगें ठुकरा चुकी है।

देश लौटना चाहें तो नहीं रोकेंगे
पाकिस्तान के गृहमंत्री शेख रशीद ने मंगलवार को कहा- नवाज एग्जिट कंट्रोल लिस्ट में हैं। उन्हें लंदन जाने की स्पेशल परमिशन दी गई थी। अब उनका पासपोर्ट एक्सपायर हो गया है। अब नवाज शरीफ अगर मुल्क वापसी चाहते हैं, तो हम नहीं रोकेंगे। उनका नाम नो-फ्लाय लिस्ट में है, लिहाजा उन्हें न तो नया पासपोर्ट जारी किया जाएगा और न पुराना रिन्यू किया जाएगा। हां, अगर वो वापसी का मन बना रहे हैं तो 72 घंटे में इसकी व्यवस्था कर दी जाएगी।

रशीद ने आरोप लगाया कि नवाज ने देश से बाहर जाने के लिए बीमारी का बहाना बनाया और कुछ देर से ही सही, लेकिन उनका प्रत्यर्पण संभव है। उन्होंने सरकार और कोर्ट दोनों को धोखा दिया। रशीद ने कहा- मैं ये कबूल करता हूं कि नवाज को विदेश जाने की मंजूरी देने के लिए जब कैबिनेट में बात हुई थी तो मैंने उनका समर्थन किया था।

प्रत्यर्पण आसान नहीं
ब्रिटेन से प्रत्यर्पण कराना आसान नहीं हैं, क्योंकि वहां इसकी प्रक्रिया काफी जटिल और लंबी है। इमरान खान के स्पेशल असिस्टेंट शहजाद अकबर तीन बार ब्रिटेन जा चुके हैं। उन्होंने वहां ब्रिटिश सरकार से नवाज को पाकिस्तान भेजने के बारे में बातचीत की, लेकिन नाकाम रहे। कानूनी दांव भी तीन बार फेल हो चुके हैं। वहां की अदालत ने इसे गैरजरूरी मांग बताया था। नवाज के वकील ने अदालत में कहा था- पाकिस्तान में मेरे मुवक्किल को सियासी बदले का शिकार बनाया जा रहा है। उनके खिलाफ आरोप भी राजनीति से प्रेरित हैं।

पासपोर्ट एक्सपायर हुआ, अब क्या होगा
‘जियो न्यूज’ ने इस बारे में ब्रिटेन के इमीग्रेशन एक्सपर्ट्स से बातचीत की। इन्होंने कहा- नवाज शरीफ लंबे वक्त ब्रिटेन में रह सकते हैं। उनके पास कई विकल्प हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उनका पासपोर्ट एक्सपायर हो गया है। पाकिस्तान सरकार इसे रद्द कर दे या कैन्सिल कर दे, तो भी नवाज लंदन में रह सकते हैं। उन्हें शरण मांगने की भी जरूरत नहीं है। उनके पास बीमारी संबंधी तमाम दस्तावेज हैं और यह महामारी का दौर है। इसलिए वे एक आवेदन के जरिए ही यहां आगे रहने की मंजूरी ले सकते हैं।

Source link

Leave a Reply