एक्टर संदीप नाहर सुसाइड केस: शव को अपने साथ ले हॉस्पिटलों के चक्कर लगाती रही पत्नी, मृत घोषित होने के बावजूद अपने साथ लेकर घर आई

  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Mumbai
  • Actor Sandeep Nahar Suicide Case: Wife Carrying The Dead Body With Her To The Hospitals, Despite Being Declared Dead, Came Home With Her

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
संदीप और उनकी पत्नी की शादी के बाद की फाइल तस्वीर। - Dainik Bhaskar

संदीप और उनकी पत्नी की शादी के बाद की फाइल तस्वीर।

‘एमएस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी’ में सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त का किरदार निभाने वाले ऐक्टर संदीप नाहर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। 15 फरवरी की शाम उनका शव फंदे से झूलता हुआ मिला था। मरने से पहले नाहर ने एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था जिसमें उन्होंने कहा था कि वह अपनी पत्नी के कारण मानसिक तौर पर काफी परेशान हैं और इसलिए आत्महत्या जैसा कदम उठा रहे हैं।

शव को अपने साथ लेकर भटकती रही पत्नी

संदीप की मौत को लेकर अब एक नया खुलासा गोरेगांव पुलिस की ओर से किया गया है। पुलिस के मुताबिक, संदीप ने अपने कमरे का दरवाजा बंद कर कर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली और जब इसकी जानकरी उनकी पत्नी कंचन शर्मा को हुई तो उन्होंने दरवाजा तोड़ने के लिए कारपेंटर बुलाया था। दोनों ने मिलकर दरवाजा तोड़ा। उनकी पत्नी ने दो अन्य लोगों के साथ मिलकर संदीप को पंखे से उतारा और उन्हें नजदीकी के अस्पताल में ले गईं।

कारपेंटर का बयान हो सकता है अहम
हालांकि, सुसाइड का मामला होने कि वजह से उस हॉस्पिटल में भर्ती करने से मना कर दिया। जिसके बाद उन्हें एक अन्य हॉस्पिटल ले जाया गया और जहां डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। जांच में यह भी सामने आया है कि इसके बाद भी कंचन डेड बॉडी को वापस घर लेकर आ गई थीं और घर आने के बाद पुलिस को इसकी जानकारी दी गई। इसके बाद पुलिस ने डेड बॉडी को अपने कब्जे में लेने के बाद उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है ताकि मौत के कारणों का पता चल सके। इस मामले में कमरे का दरवाजा खोलने वाले कारपेंटर का बयान बहुत महत्वपूर्ण हो सकता है। आज पुलिस उसका बयान दर्ज कर सकती है।

संदीप ने फिल्म 'केसरी' में एक सिख सैनिक का किरदार निभाया था।

संदीप ने फिल्म ‘केसरी’ में एक सिख सैनिक का किरदार निभाया था।

मरने से पहले सोशल मीडिया में पोस्ट किया वीडियो

मरने से पहले शाम को संदीप ने उन्होंने सोशल मीडिया पर 9 मिनट का एक वीडियो और सुसाइड नोट पोस्ट किया था। इसमें उन्होंने पत्नी पर गंभीर आरोप लगाए थे। अब तक साफ नहीं हो पाया है कि संदीप ने खुदकुशी कैसे की। DCP विशाल ठाकुर ने कहा, ‘संदीप की पत्नी कंचन ने बताया कि संदीप की बॉडी हैंगिंग पोजिशन में थी। उसने दो लोगों के साथ मिलकर बॉडी को नीचे उतारा। बॉडी को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने पर ही मौत की वजह का पता चलेगा।​​​​’ आज दोपहर बाद संदीप की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ सकती है।

संदीप की पत्नी कंचन शर्मा-फाइल फोटो

संदीप की पत्नी कंचन शर्मा-फाइल फोटो

पत्नी और सास पर लगाए गंभीर आरोप

संदीप ने कहा है, मेरी वाइफ कंचन शर्मा और उसकी मां वुनू शर्मा, जिन्होंने न समझा न समझने की कोशिश की। मेरी पत्नी हाइपर नेचर की है और उसकी पर्सनालिटी और मेरी अलग है, जो बिल्कुल भी मैच नहीं होती है। रोज-रोज की सुबह शाम की कलह। मेरी अब ये सुनने की शक्ति नहीं है। इसमें कंचन की कोई गलती नहीं है। उसका नेचर ऐसा है कि उसको सब नॉर्मल लगता है, लेकिन मेरे लिए ये सब नार्मल नहीं है।

मैं मुंबई में कई साल से हूं। मैंने बहुत बुरा वक्त भी देखा है, लेकिन कभी टूटा नहीं। डबिंग की, जिम ट्रेनर रहा, एक रूम के किचन में 6 लोग रहते थे। स्ट्रगल करते थे, लेकिन सुकून था। आज मैंने बहुत कुछ पाया है, लेकिन आज शादी के बाद सुकून नहीं है। 2 साल से जीवन बिल्कुल बदल गया है। ये बातें मैं कभी किसी से शेयर नहीं कर सकता। दुनिया को लगता है कि इनका कितना अच्छा चल रहा है। क्यों वो सब हमारे सोशल पोस्ट या स्टोरी देखते हैं, जो कि सब झूठ है। दुनिया को अच्छी इमेज दिखाने के लिए डालता हूं, लेकिन सच बिल्कुल अलग है।

संदीप नाहर(दाएं) ने 'एमएस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी' में सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त का किरदार निभाया था।

संदीप नाहर(दाएं) ने ‘एमएस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी’ में सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त का किरदार निभाया था।

संदीप ने लिखा- हमारी बिल्कुल नहीं बनती

संदीप ने अपनी पत्नी के बारे में कहा कि हमारी बिल्कुल भी नहीं बनती है। कंचन 2 साल में 100 से ज्यादा बार सुसाइड को लेकर बोल चुकी है। कहा कि तुम्हें फंसा दूंगी। देखो आज नौबत ये आ गई है कि मुझे ये कदम उठाना पड़ रहा है। पास्ट को लेकर लड़ाई है। वह मेरी इज्जत नहीं करती है। वह मुझे गाली देती है और मेरी परिवार को बारे में बुरा-बुरा कहती है। जो अब मेरे लिए सुनने-सहने से बाहर हो गया है। इसमें इसकी कोई गलती नही है, क्योंकि ये दिमाग से बीमार है। मैं चाहता हूं कि मेरे जाने के बाद इसको कोई कुछ न कहे, क्योंकि इसको कभी अपनी गलती का अहसास नहीं होगा। बस इसका इलाज करवा दो, ताकि मेरे जाने के बाद जिसकी भी लाइफ में ये जाए खुशियां दे। मेरी फैमिली को मेरे जाने के बाद कोई भी दिक्कत न दे।

माता-पिता को कहा- थैंक्स

संदीप ने कहा, ‘मैं अपने माता-पिता को थैंक्स करना चाहता हूं, क्योंकि उन्होंने मुझे वो सब कुछ दिया जो मैं चाहता था। मेरा एक्टर बनने का सपना पूरा किया। आज मैं जो हूं सब उनके कारण से हूं। मुझे पता है कि आप सब कह रहे होंगे तो उनके लिए क्यों नहीं जीता। मैं जीता अगर सिंगल होता। मुझे पता है कि जीने के लिए बाहदुरी चाहिए, लेकिन अभी तो मैं बस अपने माता-पिता से माफी मांगता हूं। उस हर पल के लिए जब मैंने उनका दिल दुखाया। मैं यहां उनको प्राउड फील करवाने के लिए आया था और कुछ बनकर उनके लिए कुछ करना चाहता था। एक गलत शादी ने लाइफ बदल दी मेरी। अब जीने की इच्छा नहीं रही है।

बॉलीवुड में बहुत राजनीति

संदीप ने कहा कि पैसों को लेकर, काम को लेकर हर एक तनाव झेला जा सकता है, लेकिन ये औरत वाला क्लेश नहीं झेला जाता। मुंबई ने मुझे काम बहुत दिया, इस माया नगरी को भी थैंक्स करना चाहता हूं। इस मायानगरी बॉलीवुड में भी बहुत राजनीति है। आपको बस उम्मीदें देकर आपका वक्त खा जाते हैं और बाद में प्रोजेक्ट से निकाल देते हैं। वो भी सब कुछ होने के बाद।

यहां लोग भी बहुत प्रैक्टिकल हैं। नो इमोशन, बस दिखावे की झूठी लाइफ में जीते हैं। वो वक्त ही अच्छा था, जब कच्चे घर होते थे, लोगों में प्यार होता था। सब अपने लगते थे। आजकल तो सब अपने होकर भी पराए लगते हैं। भीड़ में अकेले जीना भी एक कला है।

‘कंचन को कोई कुछ न कहे’

सुसाइड नोट में आगे लिखा है, ‘प्लीज मेरे जाने के बाद कंचन को कोई कुछ न कहे। बस उसमें गुस्सा बहुत ज्यादा है और चीखना-चिल्लाना। नासमझ है। इमेजिनेशन वाली जिंदगी में जीती है। अगर वैसा न हो तो बवाल करती है। दिमाग से बीमार है और ये सब इसमें से निकल जाए तो इसकी लाइफ में सब कुछ अच्छा हो जाए और ये दूसरों को खुश रख सके। लेकिन मेरे साथ इसकी अंडरस्टैंडिंग बिल्कुल नहीं है। कान की कच्ची है। कोई भी इसको बहका देता है। अपनी इसमें समझ नहीं कि कौनसी बात सुननी चाहिए, कौनसी नहीं।

‘सास पुलिस की धमकी देती है’

संदीप ने दर्द बयां करते हुए आगे लिखा, ‘मेरी सास तो बस हर बात पर पुलिस केस डालने के पीछे रहती। मैं अलग भी हुआ फरवरी में, ताकि थोड़ा स्पेस मिल जाए। ताकि माइंड रिलैक्स हो। कंचन अपने साथ टाइम बिताए। उसे अपनी गलतियों का अहसास हो। मैं भी काम पर फोकस करूं। लेकिन नहीं तब भी सासू मां ने अपनी कानूनी किताब खोल ली और मुझे अंदर करवाने की बात कहने लगी कि मेरी बेटी से शादी करके भाग गया।

यार हद होती है। कोई इंसान समझना ही नहीं चाहता। 10 साल से कंचन मुंबई में है। मैं थोड़ी उसे पंजाब से लाया था। तब बोलती है मैं 10 साल से उसके साथ रहती थी और हां अपनी बातों से पलट जाती हैं। अब झूठे इंसान को भला कौन सच साबित कर सकता।

‘अपने एक्स के संपर्क में है’

सुसाइड नोट में संदीप ने लिखा है, ‘मेरे पास्ट के लिए लड़ती है, लेकिन अपने एक्स के साथ आज तक संपर्क में है। बस वही बात है न खुद की कमियां नहीं दिखाई देतीं। अगर बात भी करती है तो मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं है। क्योंकि लाइफ है, आपको जिसके साथ अच्छा फील होता है, जाहिरतौर पर आप बात करोगे। लेकिन मुझे रोज मेरे पास्ट के लिए ताना मत मारो, कलेश मत करो। जो चैप्टर ही क्लोज है, जिसका कोई वजूद नहीं है, उसके लिए लड़ाई भला कहां की समझदारी है। दरअसल, कंचन की स्टोरी टेलिंग में मैं विलेन हूं। ये मेरे बारे में बहुत बुरा सोचती है और अपनी फ्रेंड्स को मेरे बारे में ऐसे बताती है, जैसे मैं इंसान नहीं कोई राक्षस हूं या भूत हूं।

संदीप ने लिखा है, ‘चलो किसी तरह सासू मां की धमकियों से मैं फिर कंचन के पास आ गया। वही नरक लाइफ, वही कलेश। वही ताना मारा, जिस बात पर 1000 बार लड़ चुकी है। वही रिपीट टेलीकास्ट रोज चालू। ये बात भी सच है कि स्वर्ग, नरक होता है। लेकिन शादी के बाद शुरू होता और ये शादी 2019 में इसने अपनी जिद और मरने की धमकियां देकर की। फांसी पर लटक रही थी। मुझे भी तरस आया कि बेचारी का कोई नहीं है। तब मुझे ये नहीं पता था कि मेरा तरस किया हुआ मुझे इतना भारी पड़ेगा। ये रोज मुझे ट्रामा देगी। मेरी कहीं कोई वैल्यू रखती नहीं। न महत्व देती है। मेरा किया कभी काउंट नहीं करती।

‘2 साल से नरक भोग रहा हूं’

सुसाइड नोट में आगे लिखा है, ‘2 साल से नरक ही भोग रहा हूं और अब नहीं और सहन होता। जाने-अनजाने में अगर किसी का दिल दुखाया हो तो हाथ जोड़कर माफी। खुश रहिए और दूसरों को भी रखिए। जैसी लाइफ खुद जीना चाहते हो, दूसरों को भी दो। किसी को कैद में रखकर जिद से प्यार हासिल नहीं किया जा सकता। प्यार से प्यार हासिल किया जा सकता है। लेट शादी होने से या न होने से अकेले रहने से लोग नहीं मरते। ऐसा नहीं सुना। लेकिन मैंने गलत शादी होने से काफी लोगों को मरते देखा है।

‘बहुत पहले कर लेता सुसाइड’

अंत में संदीप ने लिखा है, ‘ये मैं बहुत पहले कर लेता सुसाइड। लेकिन मैंने अपने आपको टाइम दिया कि चीजें ठीक होंगी। हर वक्त मोटीवेट किया। लेकिन रोज वही कलेश होते हैं। इस चक्रव्यूह में फंस चुका हूं। निकलने का कोई रास्ता नहीं इसके अलावा। अब मुझे ये कदम खुशी-खुशी लेना होगा। यहां इस लाइफ में बहुत नरक मिल रहा है। शायद यहां से जाने के बाद की लाइफ कैसी होगी मुझे पता नहीं। लेकिन मुझे इतना पता है कि मैं वो फेस कर लूंगा। एक रिक्वेस्ट है मेरे जाने के बाद कंचन को कुछ मत बोलना। बस उसका दिमाग का इलाज जरूर करवा देना।

Source link

Leave a Reply