उत्तराखंड हादसे का 10वां दिन: तपोवन से निकल रहे क्षत-विक्षत शव; DGP बोले- अब लोगों के जिंदा होने की उम्मीदें खत्म, 3-4 दिन में रेस्क्यू ऑपरेशन बंद करने पड़ेंगे

  • Hindi News
  • National
  • Uttarakhand NTPC Tapovan Tunnel Rescue Operation LIVE Update | Uttarakhand Chamoli Glacier Burst Latest Today News

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चमोली19 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटे ITBP, SDRF और पुलिस के जवान। मलबों से अब क्षत-विक्षत शव निकल रहे हैं। - Dainik Bhaskar

रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटे ITBP, SDRF और पुलिस के जवान। मलबों से अब क्षत-विक्षत शव निकल रहे हैं।

चमोली में प्राकृतिक आपदा को आए हुए आज 10वां दिन है। लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है, लेकिन अब लापता लोगों के जिंदा होने की उम्मीदें खत्म होती जा रहीं हैं। उत्तराखंड पुलिस के DGP अशोक कुमार ने कहा कि चमोली में दिन-रात रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है, लेकिन अब लोगों के जिंदा होने की आस नहीं है। ऐसे में 3-4 दिन से ज्यादा रेस्क्यू ऑपरेशन नहीं चल सकता है। हालांकि उसके बाद भी साफ-सफाई का काम जारी रहेगा।

अब तक 56 लोगों के शव बरामद
आपदा वाले इलाके से अब तक 56 लोगों के शव बरामद किए जा चुके हैं। इसके अलावा 22 क्षत-विक्षत मानव अंग भी मिले हैं। इनकी शिनाख्त DNA जांच से ही होगी। DGP अशोक कुमार ने बताया कि कुछ दिन पहले तक हमें पूरी उम्मीद थी कि टनल में कुछ लोग जिंदा हो सकते हैं, लेकिन अब ऐसा प्रतीत नहीं हो रहा है। ऐसे में जितने लोगों के शव बरामद होते हैं, उन्हें उनके परिजन को सौंपा जा रहा है। बाकी लापता लोगों के लिए सरकार जो भी नियम बनाएगी उसके अनुसार उन्हें मृत घोषित कर दिया जाएगा। अभी 148 लोग लापता हैं।

SDRF ने रैणी गांव में लगाया अलार्म सिस्टम
स्टेट डिजास्टर रिस्पांस फोर्स (SDRF) ने रैणी गांव के पास अलार्म सिस्टम लगा दिया है। ये ऋषिगंगा और धौलीगंगा नदी का जलस्तर बढ़ते ही गांव वालों को अलर्ट कर देगा, ताकि समय रहते आस-पास के इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला जा सके।

Source link

Leave a Reply