अमेरिकी फौज पर हमला: इराक के इरबिल में इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर हमला, 1 की मौत कई घायल- इसके करीब है US एयरबेस

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बगदाद/वॉशिंगटन4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
इराक के इरबिल एयरपोर्ट पर सोमवार रात तीन रॉकेट दागे गए। हमले में एक सिविलियन कॉन्ट्रैक्टर की मौत हो गई। घटना के बाद जांच करती टीम। - Dainik Bhaskar

इराक के इरबिल एयरपोर्ट पर सोमवार रात तीन रॉकेट दागे गए। हमले में एक सिविलियन कॉन्ट्रैक्टर की मौत हो गई। घटना के बाद जांच करती टीम।

इराक के इरबिल इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर शनिवार रात रॉकेट हमला हुआ। इसमें एक सिविल कॉन्ट्रैक्टर की मौत हो गई, जबकि कई लोग घायल हैं। इस एयरपोर्ट से कुछ दूरी पर अमेरिकी फौज का एयरबेस है और माना जा रहा है कि हमले में अमेरिकी फौज को ही निशाना बनाने की साजिश थी। अमेरिका ने घटना पर चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि वो इस मामले की जांच कर रहा है। हमले के पीछे ISIS का हाथ माना जा रहा है। यह आतंकी संगठन इराक में फिर ताकत जुटाने की कोशिश कर रहा है।

एयरबेस ही था निशाने पर
हमले को अमेरिका ने गंभीरता से लिया। विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन खुद मीडिया के सामने आए। कहा- हम इस हमले को गंभीरता से ले रहे हैं। जांच चल रही है। जिम्मेदारों को बख्शा नहीं जाएगा। दूसरी तरफ, अमेरिकी मीडिया की रिपोर्ट्स में कहा गया है कि रॉकेट हमले के निशाने पर अमेरिकी सैनिक और एयरबेस ही था।

एक कॉन्ट्रैक्टर की मौत
ब्लिंकेन ने कहा- फिलहाल, हमें जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक, एक सिविलियन कॉन्ट्रैक्टर हमले में मारा गया है और कई लोग गंभार रूप से घायल है। घायलों में एक अमेरिकी भी शामिल है। मैं इस बारे में कुर्दिश प्रांत के प्राइम मिनिस्टर के संपर्क में हूं। मैंने उनसे साफ कहा है कि वे साजिश को अंजाम देने वाले लोगों या संगठन का पता लगाएं। किसी भी सूरत में अमेरिकी हितों पर हमला करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।

तीन रॉकेट दागे गए
इराकी और नाटो फौज के सूत्रों ने न्यूज एजेंसी से कहा- तीन रॉकेट दागे गए। एयरपोर्ट को निशाना बनाया गया। इस जगह विदेशी सैनिक तैनात हैं। ये सैनिक आतंकी संगठन आईएसआईएस के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान का हिस्सा हैं। अभी तक किसी आतंकी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

फिलहाल, सुरक्षा के मद्देनजर इरबिल के इस इंटरनेशनल एयरपोर्ट को बंद कर दिया गया है। माना जा रहा है कि आज दोपहर तक अमेरिका अपना एक जांच दल यहां भेज सकता है। पिछले साल 20 दिसंबर को भी इस एयरपोर्ट को टारगेट करने की कोशिश की गई थी।

Source link

Leave a Reply