India vs England 2nd Test: जीत से सिर्फ 7 विकेट दूर टीम इंडिया, इंग्लैंड को जीत के लिए 429 रन का टारगेट

डिजिटल डेस्क, चेन्नई। भारत ने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत इंग्लैंड को यहां एमए चिदंबरम स्टेडियम में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन सोमवार को स्टंप्स तक दूसरी पारी में तीन विकेट पर 53 रन पर रोक कर मैच में अपना शिकंजा कस लिया और उसे इस मुकाबले को जीतने के लिए अब सात विकेटों की जरुरत है।

भारत की दूसरी पारी 286 रन पर ऑलआउट हुई और उसने इंग्लैंड के सामने जीत के लिए 482 रनों का लक्ष्य रखा। दिन का खेल खत्म होने तक डेनियल लॉरेंस 38 गेंदों पर दो चौकों और एक छक्के की मदद से 19 और कप्तान जोए रूट आठ गेंदों पर दो रन बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं।

अक्षर ने इंग्लैंड को दो झटके दिए
इंग्लैंड को मुकाबला जीतने के लिए अभी भी 429 रनों की जरूरत है और उसके पास सात विकेट शेष हैं, जबकि भारत के पास पूरे 6 सत्र और कम से कम 180 ओवर हैं। भारत की ओर से अक्षर पटेल ने 15 रन देकर दो विकेट और रविचंद्रन अश्विन ने 28 रन देकर एक विकेट लिए। इंग्लैंड ने बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए डोमिनिक सिब्ले का विकेट गंवाया। सिब्ले को अक्षर ने पगबाधा आउट किया। उन्होंने तीन रन बनाए। इसके बाद रविचंद्रन अश्विन ने रोरी बर्न्‍स को विराट कोहली के हाथों कैच कराकर आउट किया। बर्न्‍स ने 42 गेंदों में चार चौकों की मदद से 25 रन बनाए। इसके बाद अक्षर ने नाइट वॉचमैन के रुप में क्रीज पर उतरे जैक लीच को रोहित शर्मा के हाथों कैच कराकर इंग्लैंड को तीसरा झटका दिया। लीच पहली गेंद पर खाता खोले बिना आउट हुए।

अश्विन ने 40 टेस्ट बाद सेंचुरी लगाई
इससे पहले भारत की ओर से दूसरी पारी में अश्विन ने 148 गेंदों पर 14 चौकों और एक छक्के की मदद से 106 रन तथा विराट कोहली ने 149 गेंदों में सात चौकों के सहारे 62 रन बनाए। दोनों बल्लेबाजों के बीच सातवें विकेट के लिए हुई 96 रनों की साझेदारी की बदौलत टीम इंडिया ने इंग्लैंड के सामने पहाड़ जैसे स्कोर का लक्ष्य रखा। अश्विन ने अपने करियर का पांचवां शतक जड़ा। अश्विन ने 40 टेस्ट और 54 महीने बाद टेस्ट में शतक लगाया। इससे पहले अगस्त 2016 में वेस्टइंडीज के खिलाफ सेंचुरी लगाई थी। तब टेस्ट में उन्होंने 118 रन की पारी खेली थी। वहीं यह तीसरा मौका है जब अश्विन ने एक ही टेस्ट में शतक लगाने और पांच विकेट लेने का कारनामा किया है। अश्विन ने पहली पारी में 43 रन देकर पांच विकेट लिए थे।

रोहित, पुजारा, पंत और रहाणे सस्ते में आउट हुए
तीसरे दिन पहले सत्र में भारतीय टीम की तरफ से रोहित शर्मा ने 25 और चेतेश्वर पुजारा ने 7 रन से आगे खेलना शुरू किया। पुजारा हालांकि जल्द ही रनआउट हो गए और 23 गेंदों में एक चौके की मदद से सात के स्कोर पर पवेलियन चले गए। पुजारा के आउट होने के तुरंत बाद ही रोहित जैक लीच की गेंद पर स्टंप्स आउट हुए। रोहित ने सिर्फ एक ही रन बनाया और वह 70 गेंदों में दो चौकों और एक छक्के की मदद से 26 रन बनाकर आउट हुए। नए बल्लेबाज के रूप में क्रीज पर उतरे ऋषभ पंत भी ज्यादा देर नहीं टिक सके और जैक लीच ने उन्हें भी स्टंप्स आउट कर पवेलियन भेजा। पंत ने 11 गेंदों में आठ रन की पारी में एक चौका लगाया। कोहली ने इसके बाद अजिंक्य रहाणे के साथ पारी को आगे बढ़ाया लेकिन रहाणे ज्यादा समय तक कप्तान का साथ नहीं दे सके और मोइन अली की गेंद पर ओली पोप को कैच थमाकर आउट हुए। रहाणे ने 14 गेंदों में दो चौकों के सहारे 10 रन बनाए।

कोहली और अश्विन ने संभाली पारी
कोहली हालांकि एक छोर से सधी हुई बल्लेबाजी करते हुए पारी को संभाले रहे। इस बीच मोइन ने अक्षर पटेल को पगबाधा आउट कर भारत को छठा झटका दिया। अक्षर 18 गेंदों में एक चौके की मदद से सात रन बनाकर आउट हुए। कोहली और अश्विन ने इसके बाद लड़खड़ाती हुई भारतीय पारी को संभाला और दोनों बल्लेबाजों ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड के गेंदबाजों को खासा परेशान किया। कोहली ने इसके साथ ही अपने टेस्ट करियर का 25वां अर्धशतक पूरा किया। लय में खेल रहे कोहली हालांकि, मोइन की गेंद पर पगबाधा आउट करार दिए गए। कोहली के बाद नए बल्लेबाज के रूप में क्रीज पर उतरे कुलदीप यादव जल्द ही मोइन की गेंद पर पगबाधा आउट होकर पवेलियन लौटे। कुलदीप ने नौ गेंद खेल तीन रन बनाए।

इशांत लीच की गेंद पर ओली स्टोन को कैच थमाकर आउट हुए। इशांत ने सात रन बनाए। अश्विन स्टोन की गेंद पर बोल्ड होकर 10वें बल्लेबाज के रुप में आउट हुए। मोहम्मद सिराज 21 गेंदों में दो छक्के लगाकर 16 रन पर नाबाद रहे। इंग्लैंड की ओर से जैक लीच और मोइन अली को चार-चार विकेट और ओली स्टोन को एक विकेट मिला।

सबसे बड़ा टारगेट चेज करने का रिकॉर्ड विंडीज के नाम
टेस्ट में सबसे बड़ा टारगेट चेज करने का रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के नाम है। उसने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2003 में 418 रन का टारगेट चेज किया था। भारतीय जमीन पर अब तक सबसे बड़ा 387 रन का टारगेट ही चेज किया जा सका है। दिसंबर 2008 में भारत ने इंग्लैंड को चेन्नई के ही मैदान पर टेस्ट में 6 विकेट से हराया था।

भारत में विदेशी टीम ने सबसे बड़ा 276 रन का टारगेट चेज किया
वहीं, विदेशी टीम की बात करें तो सिर्फ वेस्टइंडीज ने ही भारत में सबसे बड़ा 276 रन का टारगेट चेज किया था। उसने 1987 के दिल्ली टेस्ट में भारत को 5 विकेट से हराया था। इससे बड़ा टारगेट अब तक कोई विदेशी टीम भारत में चेज नहीं कर सकी।

एशिया में टेस्ट की चौथी पारी में 413 रन से ज्यादा नहीं बन सके
एशिया में अब तक टेस्ट की चौथी पारी में 413 रन सबसे बड़ा स्कोर रहा है। यह बांग्लादेश ने श्रीलंका के खिलाफ दिसंबर 2008 में बनाया था। तब मीरपुर में खेले गए उस टेस्ट में 521 रन के टारगेट का पीछा करते हुए बांग्लादेश ने 107 रन से मैच गंवा दिया था।

Source link

Leave a Reply