दूसरा टेस्ट भारत के कंट्रोल में: 3 विकेट खो चुकी इंग्लैंड को जीत के लिए 429 रन चाहिए; टेस्ट में अब तक 418+ रन का टारगेट चेज नहीं हुआ

  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • India Vs England 2nd Test LIVE Score Update | IND VS ENG Today Match Day 3 Latest News And Update

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चेन्नई6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

चेन्नई में इंग्लैंड के खिलाफ खेला जा रहा दूसरा टेस्ट भारत की मुट्‌ठी में है। रविचंद्रन अश्विन और रोहित शर्मा के शतक की मदद से टीम इंडिया ने दूसरी पारी में 286 रन बनाकर इंग्लैंड को 482 रन का टारगेट दे दिया। जवाब में इंग्लैंड ने 3 विकेट गंवाकर 53 रन बना लिए। डैन लॉरेंस और जो रूट नाबाद हैं। दो दिन का खेल बाकी है। ऐसे में भारत की जीत पक्की नजर आ रही है। मैच का स्कोरकार्ड देखने के लिए यहां क्लिक करें…

खराब बताई जा रही पिच पर अश्विन ने 40 टेस्ट और 54 महीने बाद टेस्ट में सेंचुरी लगाई
8वें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे अश्विन ने दूसरी पारी में सबसे ज्यादा 106 रन बनाए। यह उनके टेस्ट करियर का 5वां शतक रहा। अश्विन ने यह पारी तब खेली, जब इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइक वॉन ने इस पिच को बेहद खराब बताया।

अश्विन ने 40 टेस्ट और 54 महीने बाद टेस्ट में शतक लगाया। इससे पहले अगस्त 2016 में वेस्टइंडीज के खिलाफ सेंचुरी लगाई थी। तब टेस्ट में उन्होंने 118 रन की पारी खेली थी। घर में पिछला शतक नवंबर 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ कोलकाता में ही लगाया था। तब उन्होंने 67 रन की पारी खेली थी।

अश्विन को 2 जीवनदान मिले
अश्विन को दूसरी पारी में 45वें ओवर की चौथी बॉल पर जीवनदान मिला। स्टुअर्ट ब्रॉड की बॉल पर स्लिप में बेन स्टोक्स ने आसान कैच छोड़ा था। तब 28 रन बनाकर खेल रहे थे। इसके बाद 67वें ओवर की तीसरी बॉल पर अश्विन को दूसरा जीवनदान मिला। ब्रॉड की बॉल पर ही इस बार विकेटकीपर बेन फोक्स ने कैच छोड़ा। तब अश्विन 56 रन बनाकर खेल रहे थे।

कोहली को अंपायर की वॉर्निंग: पिच के डेंजर एरिया में रन दौड़े विराट, दूसरी गलती पर लग सकता है 5 रन का जुर्माना

आंकड़े बता रहे हैं कि इंग्लैंड के लिए इतना बड़ा टारगेट चेज करना मुश्किल

  • टेस्ट में सबसे बड़ा टारगेट चेज करने का रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के नाम है। उसने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2003 में 418 रन का टारगेट चेज किया था।
  • भारतीय जमीन पर अब तक सबसे बड़ा 387 रन का टारगेट भारत ने ही दिसंबर 2008 में चेज किया था। तब भारत ने इंग्लैंड को चेन्नई के ही मैदान पर टेस्ट में 6 विकेट से हराया था।
  • विदेशी टीम की बात करें तो सिर्फ वेस्टइंडीज ने ही भारत में सबसे बड़ा 276 रन का टारगेट चेज किया था। उसने 1987 के दिल्ली टेस्ट में भारत को 5 विकेट से हराया था। अब तक कोई विदेशी टीम भारत में इससे बड़ा टारगेट चेज नहीं कर सकी।
  • एशिया में अब तक टेस्ट की चौथी पारी में 413 रन सबसे बड़ा स्कोर रहा है। यह बांग्लादेश ने श्रीलंका के खिलाफ दिसंबर 2008 में बनाया था। तब मीरपुर में खेले गए उस टेस्ट में 521 रन के टारगेट का पीछा करते हुए बांग्लादेश ने 107 रन से मैच गंवा दिया था।

मैच समरी: भारत को पहली पारी में 195 रन की लीड मिली थी
दूसरे दिन टीम इंडिया ने पहली पारी में 329 रन बनाए थे। रोहित शर्मा ने 161 रन की पारी खेली। इसके जवाब में इंग्लैंड टीम रोहित के स्कोर की भी बराबरी नहीं कर सकी और 134 रन पर सिमट गई। इस लिहाज से भारत को पहली पारी में 195 रन की लीड मिली।

अश्विन ने रचा इतिहास: 3 बार एक ही टेस्ट में 5 विकेट और सेंचुरी लगाने वाले पहले भारतीय; भज्जी से माफी भी मांगी

तीसरे दिन के हाइलाइट्स

1. भारत ने शुरुआती 11 रन बनाने में 3 विकेट गंवाए
दूसरे दिन 14 रन बनाकर शुभमन गिल जैक लीच की बॉल पर LBW हो चुके थे। तीसरे दिन टीम इंडिया ने दूसरी पारी में एक विकेट पर 54 रन से आगे खेलना शुरू किया था। इसके बाद टीम ने सिर्फ 11 रन बनाने में 3 और विकेट गंवा दिए। पुजारा (7) रनआउट हो गए। पहली पारी में 161 रन बनाने वाले रोहित शर्मा 26 रन बनाकर जैक लीच की बॉल पर स्टम्प हो गए। रहाणे से ऊपर खेलने उतरे ऋषभ पंत 8 रन बनाकर लीच की बॉल पर स्टंप आउट हुए।

2. कोहली और अश्विन ने पारी को संभाला
अजिंक्य रहाणे भी 10 रन बनाकर आउट हुए। मोइन अली ने उन्हें ओली पोप के हाथों कैच आउट कराया। भारत ने एक समय 106 रन पर 6 विकेट गंवा दिए थे। इसके बाद कप्तान विराट कोहली और ऑलराउंडर रविचंद्रन अश्विन ने पारी को संभाला और 7वें विकेट के लिए 177 बॉल पर 96 रन की पार्टनरशिप की। भारत के लिए अश्विन ने सबसे ज्यादा 106 और कोहली ने 62 रन की पारी खेली। दूसरी पारी में टीम इंडिया ने 286 रन बनाते हुए 482 रन का टारगेट सेट किया।

3. मोइन अली और जैक लीच ने 4-4 विकेट लिए
भारत की दूसरी पारी में इंग्लिश स्पिनर मोइन अली और जैक लीच ने 4-4 विकेट लिए। लीच ने रोहित, शुभमन, ऋषभ पंत और इशांत शर्मा को पवेलियन भेजा। जबकि मोइन ने विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, अक्षर पटेल और कुलदीप यादव को शिकार बनाया।

4. चोटिल पुजारा ने फील्डिंग नहीं की, लेकिन बल्लेबाजी के लिए उतरे
चेतेश्वर पुजारा इंग्लैंड की पहली पारी के दौरान फील्डिंग करने नहीं उतरे थे। पहली पारी में बल्लेबाजी के दौरान उनको हाथ में चोट लगी थी। पहली पारी में उन्होंने 58 बॉल पर 21 रन बनाए थे। हालांकि, दूसरी पारी में वे बल्लेबाजी करने उतरे और सिर्फ 7 रन ही बनाकर आउट हुए।

अश्विन ने मुरलीधरन और वॉर्न को पीछे छोड़ा: बाएं हाथ के बल्लेबाजों को 200 बार आउट करने वाले पहले गेंदबाज

5. अक्षर ने इंग्लैंड को दो झटके दिए
482 रन के टारगेट का पीछा करने उतरी इंग्लैंड को दूसरी पारी में स्पिनर अक्षर पटेल ने पहला झटका दिया। डेब्यू टेस्ट खेल रहे अक्षर ने ओपनर डॉम सिबली को 3 रन पर LBW किया। दूसरा झटका 49 रन पर रविचंद्रन अश्विन ने दिया। उन्होंने रोरी बर्न्स को 25 रन पर विराट कोहली के हाथों कैच आउट कराया। नाइट वॉचमैन के तौर पर नंबर-4 पर आए जैक लीच बिना खाता खोले आउट हुए। अक्षर की बॉल पर वे रोहित को कैच दे बैठे।

Source link

Leave a Reply