रणधीर कपूर का दर्द: दो साल में दोनों भाइयों समेत चार फैमिली मेंबर्स को खो चुके एक्टर ने कहा- अब इस घर में मैं अकेला रह गया हूं

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

13 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

रणधीर कपूर दोनों छोटे भाइयों पहले ऋषि और फिर राजीव को खोने के बाद वे घर में अकेले रह गए हैं। उन्होंने एक अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट से बातचीत में दर्द बयां किया। रणधीर ने कहा, “मैं नहीं जानता क्या हो रहा है? मैं ऋषि और राजीव के एक बराबर करीब था। मैंने अपने परिवार के चार सदस्यों को खो दिया। मेरी मां कृष्णा राज कपूर, बड़ी बहन रितु नंदा, ऋषि और अब राजीव।” 1 अक्टूबर 2018 को कृष्णा राज कपूर, 14 जनवरी 2020 को रितु नंदा, 30 अप्रैल 2020 को ऋषि कपूर और 9 फरवरी 2021 को राजीव कपूर का निधन हुआ। रणधीर के मुताबिक, इन चारों से ही उनकी सबसे ज्यादा बात होती थी।

‘अब मैं अकेला रह गया हूं’

रणधीर ने ई-टाइम्स से बातचीत में राजीव कपूर के अंतिम पलों के बारे में भी बताया। वे कहते हैं, “जब से नर्व रिलेटेड इश्यू के चलते मुझे चलने में परेशानी हुई है, तब से एक नर्स 24 घंटे मेरे पास रहती है। सुबह 7:30 बजे जब वह राजीव को जगाने गई तो उन्होंने कोई रिस्पॉन्स नहीं दिया। नर्स ने उनकी पल्स चेक की, जो कि काफी लो थी और कम होती जा रही थी। हम उन्हें लेकर तुरंत अस्पताल भागे। लेकिन उन्हें बचाने की सभी कोशिशें नाकामयाब रहीं। अब मैं अकेला रह गया हूं। ” 58 साल के राजीव जो हार्ट अटैक आया था।

शुक्रवार को प्रेयर मीट हुई थी

मुंबई में शुक्रवार शाम दिवंगत राजीव कपूर के लिए प्रेयर मीट रखी गई थी। इस प्राइवेट प्रेयर मीट में नीतू, रणबीर, रणधीर, बबिता, करिश्मा समेत कपूर फैमिली के सदस्यों के अलावा सैफ अली खान, बोनी कपूर और आलिया भट्ट जैसे चुनिंदा सेलेब्स भी नजर आए थे। इस मौके पर राजीव की आत्मा की शांति के लिए पूजन की गई थी।

आखिरी फिल्म नहीं देख आए राजीव

राजीव अपनी कमबैक फिल्म ‘तुलसीदास जूनियर’ की रिलीज नहीं देख सके। यह फिल्म इस साल रिलीज होने वाली है, जिसके जरिए वे 30 साल बाद बॉलीवुड में वापसी करने को तैयार थे। इस फिल्म को मृदुल ने लिखा और डायरेक्ट किया है। फिल्म में संजय दत्त और दलीप ताहिल की अहम भूमिका है। फिल्म के निर्माता आशुतोष गोवारिकर ने बताया कि उनकी टीम ने फिल्म के प्रमोशन के लिए हाल ही में राजीव से संपर्क किया था।

Source link

Leave a Reply