शहर में स्कूटी सवार और धारूहेड़ा में पैदल जा रही महिला के गले से बदमाशों ने झपटी सोने की चेन

धारूहेड़ा14 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

पुलिस के तमाम सुरक्षा दावों को धता बताते हुए चेन स्नेचर्स बदमाशों ने बुधवार को एक बार शहर के गढ़ी बोलनी रोड एवं धारूहेड़ा के सेक्टर-6 में चेन तोड़ने की घटनाओं को अंजाम दिया। बदमाशों ने दोपहर डेढ़ बजे शहर के गढ़ी बोलनी रोड पर हरनारायण पैलेस के समीप एक इंजीनियर की पत्नी की चेन तोड़ी और उसके ठीक पौने एक घंटे बाद धारूहेड़ा के सेक्टर-6 में बाजार से सामान लेकर पैदल जा रही महिला के गले से चेन तोड़ने की वारदात की। इससे पहले भी बदमाशों ने 6 सितंबर को शहर में एक घंटे के अंदर चेन तोड़ने की तीन वारदातों को अंजाम दिया था। इस घटना के बाद पुलिस ने सेक्टरों में बाइक राइडर्स बढ़ाए थे फिर भी चेन स्नचर्स वारदात कर रहे हैं।

बच्चे को पत्नी के साथ दवा दिलाकर आ रहा था
चेन तोड़ने की पहली वारदात शहर के गढ़ी बोलनी रोड पर दोपहर डेढ़ बजे के करीब हुई। सेक्टर-Three निवासी एवं बंगलुरू की कंपनी में इंजीनियर के पद पर कार्यरत दिनेश यादव अपनी पत्नी एकता के साथ बीमार बच्चे को दवा दिलाने के बाद स्कूटी से घर लौट रहे थे। उनकी पत्नी ने गले में सोने की चेन पहनी हुई थी। जब दोनों शक्तिनगर मोड़ से आगे पहुंचे तभी पीछे से एक बगैर नंबर की बाइक पर सवार होकर आए दो बदमाशों ने उनकी पत्नी के गले पर झपट्‌टा मारा।

अचानक हुई इस घटना से वह घबरा गई और जब तक कुछ समझ पाती तब तक बदमाश चेन तोड़कर आगे निकल चुके थे। उनकी गोद में बच्चा भी अचानक झपट्‌टा मारने की वजह से गिरने से बच गया। तत्पश्चात उन्होंने शोर भी मचाया जिसके बाद आसपास के लोग मौके पर पहुंचे। घटना के दंपति ने मामले की जानकारी पुलिस को दी। चेन तोड़ने की सूचना के बाद मॉडल टाउन थाना सतेंद्र सिंह तुरंत मौके पर पहुंचे और घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले। घटना के संबंध में पुलिस ने चेन स्नेचिंग का केस दर्ज कर लिया।

सुबह धारूहेड़ा में मार्केट से लौट रही महिला की तोड़ी थी चेन

शहर में चेन तोड़ने की इस घटना से ठीक ढाई घंटे पहले बदमाशों ने धारूहेड़ा के सेक्टर-6 में बाजार से लौट रही एक महिला के गले से भी सोने की चेन तोड़ने की वारदात को अंजाम दिया। सेक्टर-6 निवासी किरणपाल कौर ने बताया कि वह सुबह करीब 11 बजे बाजार से सामान खरीदने के बाद पैदल अपने घर जा रही थी। जब वह सेक्टर में पहुंची तभी पीछे से एक बगैर नंबर की बाइक पर सवार होकर आए बदमाश उसके पास आए। एक बार बदमाशों ने उनसे रास्ते के बारे में पूछ और जब वे चलने लगी तभी उनके गले में झपट्‌टा मारा। झपट्‌टा मारने ही वे गिरते-गिरते बची और उसके बाद बदमाश सेक्टर में ही भाग गए। इस घटना के बाद उन्होंने भी शोर मचाया लेकिन बदमाशों का कोई सुराग नहीं लगा। उधर धारूहेड़ा में ढाई घंटे पहले वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश आसानी से रेवाड़ी भी पहुंच गए। शहर में जिन बाइक सवारों ने वारदात को अंजाम दिया है वह बाइक भी बगैर नंबर की थी। दोनों ही घटनाओं में आरोपियों का हुलिया एक सा बताया गया है।

0

Source link

Leave a Reply