वीरभद्र सरकार में हिमाचल का विकास हुआ और अब विकास रुक गया: राजीव शुक्ला

चंडीगढ़14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

शुक्ला ने पार्टी की एकजुटता पर बात करते हुए केंद्र और हिमाचल प्रदेश सरकार पर तीखा प्रखार करते दिखे।

  • हाल ही में नियुक्त हुए हिमाचल कांग्रेस के प्रभारी राजीव शुक्ला गुरुवार को शिमला पहुंचे
  • इससे पहले परवाणू में शुक्ला का गर्मजोशी के साथ स्वागत किया गया

हाल ही में नियुक्त हुए हिमाचल कांग्रेस के प्रभारी राजीव शुक्ला गुरुवार को शिमला पहुंचे। अपने हिमाचल दौरे को लेकर वे काफी उत्साहित और आक्रोषित दिखे। उन्होंने पार्टी की एकजुटता पर बात करते हुए केंद्र और हिमाचल प्रदेश सरकार पर तीखा प्रखार करते दिखे। बोले भाजपा सरकार देश और प्रदेश में कोरोना पर काबू पाने में फेल हो गई है। इसके बाद उन्होंने डीडीयू शिमला में महिला द्वारा की आत्महत्या का हवाला देते हुए प्रदेश सरकार पर बाण छोड़ा। वे बोले कि अब जनता को कांग्रेस का समर्थन करना चाहिए तभी देश और प्रदेश का उद्धार होगा।

राजीव शुक्ला ने कहा कि हिमाचल देश का मुकुट है। पूर्व पीएम इंदिरा गांधी ने हिमाचल को पूर्ण राज्य का दर्जा दिया था। उन्होंने कहा कि आने वाले विधानसभा चुनावों में निश्चित रूप से कांग्रेसी पार्टी की सरकार बनेगी। बाले, वीरभद्र सरकार में राज्य का विकास हुआ और अब विकास रुक गया। इसके अलावा उन्हें केंद्र सरकार से कृषि संबंधित विधेयक तत्काल वापस लेने की मांग की है। उन्होंने कहा कि इस विधेयक से देश के करोड़ों किसानों का भला नहीं होगा। न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम में किसानों की फसल कोई भी नहीं खरीदेगा।

इससे पहले परवाणू में शुक्ला का गर्मजोशी के साथ स्वागत किया गया। वे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर व विपक्ष नेता मुकेश अग्निहोत्री के साथ परवाणु पहुंचे जहां पर सैकड़ों की संख्या में मौजूद इंटक व कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस को मजबूत करने का काम किया जाएगा और हर चुनाव को संगठन के लोग एकजुट हो कर लड़ेंगे। इस मौके पर विपक्ष के नेता मुकेश अगिनहोत्री, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर, इंटक के अध्यक्ष हरदीप सिंह बावा, जिला सोलन अध्यक्ष शिव कुमार, पूर्व विधायक राम कुमार चौधरी, नप परवाणु के अध्यक्ष ठाकुर दास शर्मा, सतीश बेरी, हरीश आजाद दिनेश आजाद, युवा इंटक अध्यक्ष यशपाल ठाकुर व अन्य कई लोग मौजूद रहें।

0

Source link

Leave a Reply