वाराणसी में राज्यमंत्री ने गड्ढा मुक्त अभियान की देखी हकीकत; सीवर के मेनहोल खुले देख अफसरों पर भड़के, खुद चलाया फावड़ा

वाराणसीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

वाराणसी में सड़क पर गड्ढे की सफाई करते राज्यमंत्री रवीेंद्र जायसवाल।

  • राज्यमंत्री रवींद्र जयसवाल ने स्वीकार किया कि विभागों में फंड के बावजूद अधिकारी लापरवाही बरत रहे
  • नगर निगम और पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को फटकारा, बोले- एफआईआर नहीं विभागीय कार्रवाई होगी

उत्तर प्रदेश में वाराणसी संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करते हैं। इसीलिए योगी सरकार के यहां के विकास को अधूरा नहीं छोड़ना नहीं चाहती। लेकिन, गुरुवार को विकास के तमाम दावों की पोल तब खुल गई जब स्टांप एवं न्यायालय पंजीयन शुल्क राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रवींद्र जायसवाल खुद गड्ढा मुक्त अभियान की हकीकत जांचने के लिए अपनी सरकारी गाड़ी छोड़कर सड़क पर उतरे। उन्होंने सेंट्रल जेल रोड से भोजूबीर बसनी तक सफाई, सड़क, सीवर का जायजा लिया। सड़क तो खराब मिली ही सीवर के मेनहोल के ढक्कन भी खुले थे। यह देख राज्यमंत्री गुस्से से आग बबूला हो उठे। उन्होंने अफसरों को फटकार लगाई और खुद गड्ढे में उतरकर फावड़ा भी चलाया।

मेनहोल को देखकर राज्यमंत्री का चढ़ा पारा।

मेनहोल को देखकर राज्यमंत्री का चढ़ा पारा।

अधिकारियों के चलते जनता गड्ढे में जा रही

राज्यमंत्री ने नगर निगम और पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों, एक्सईएन समेत अन्य कर्मचारियों को लापरवाह बताते हुए फटकार लगाई। कहा कि, सरकारी सरकारी तंत्र के अधिकारियों की वजह से जनता गड्ढे में जा रही है। जायसवाल ने कहा कि विकास के लिए हमारी सरकार कटिबद्ध है। सरकार ने विभागों को फंड दे रखा है। सड़क, सीवर और स्वच्छता को लेकर पैसे भी आ चुके हैं। लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि सरकारी तंत्र के गैर जिम्मेदार अधिकारियों की वजह से जनता गड्ढे में जा रही है।

जो जिम्मेदार है, वो बचेगा नहीं

मंत्री ने कहा कि सीएम के निर्देश के बावजूद और फंड होने पर भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हम सरकार में है, एफआईआर नहीं सीधे कार्रवाई करेंगे। सड़कों पर तमाम जगहों पर मेन होल के ढक्कन खुले हैं। सड़कों को मानक के अनुसार नहीं बनाया गया। बरसात में सड़कों में गड्ढे हो गए हैं। पीडब्ल्यूडी और नगर निगम के लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ जांच हो रही है।

0

Source link

Leave a Reply