चीफ जस्टिस बोबडे की कोर्ट में चल रही थी सुनवाई, तभी आई सब्जीवाले की आवाज- आलू ले लो, प्याज ले लो

  • Hindi News
  • National
  • The Listening to Of Chief Justice Bobde Was Going On In The Courtroom, When The Voice Of The Vegetable Vendor Got here ‘Take The Potatoes … Take The Woman Finger … Take The Onion’
नई दिल्ली5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

(पवन कुमार) कोरोना के कारण सुप्रीम कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मामलों की सुनवाई हो रही है। ऑनलाइन सुनवाई के दौरान ज्यादातर वकील घर, ऑफिस और कार में बैठकर दलीलें देते हैं। इस कारण कई बार तरह-तरह के अजीब वाकये भी पेश आते हैं। इससे गंभीर मामलों की सुनवाई के दौरान माहौल ही बदल जाता है। मंगलवार को भी ऐसा ही एक अजीब वाकया सामने आया।

हुआ यूं कि चीफ जस्टिस एसए बोबडे की कोर्ट में सुनवाई चल रही थी। कई वकील कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े थे और सुनवाई में शामिल थे। इस बीच एक वकील दलील दे रहा था। तभी एक वकील के बैकग्राउंड से आवाज आई- ‘आलू ले लो….भिंडी ले लो….प्याज ले लो…।’ यह सुनते ही वकील और जज हंसने लगे।

चीफ जस्टिस ने कहा- सभी वकीलों को म्यूट कर दें

दरअसल, एक वकील अपने घर के जिस कमरे में बैठा था। उसके बाहर एक ठेले वाला चिल्ला-चिल्लाकर सब्जी बेच रहा था। इस बीच चीफ जस्टिस ने पूछा- ‘यह आवाज किस वकील के बैकग्रांउड से आ रही है।’ लेकिन किसी ने हामी नहीं भरी। इसके बाद चीफ जस्टिस ने अपने स्टाफ से कहा कि दलील पेश कर रहे वकील के अतिरिक्त अन्य सभी वकीलों को म्यूट कर दें।

वकील गालिब-कबीर का नाम सुनकर सीजेआई बोबडे चौंक पड़े

इसके बाद मामलों की रुटीन सुनवाई दोबारा शुरू की गई। दूसरी ओर देशभर में इलेक्ट्रानिक वोटिंग सिस्टम लागू करने की मांग को लेकर एक याचिका सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई थी। इस मामले की सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता के वकील गालिब-कबीर का नाम सुनकर सीजेआई बोबडे चौंक पड़े।

बोले- ‘गालिब भी और कबीर भी। आपका नाम तो बड़ा दिलचस्प है। खैर बताइए कि आप क्या चाहते हैं।’ हालांकि, याचिकाकर्ता की सुनवाई पर सीजेआई ने कहा- ‘यह ऐसा मामला नहीं है, जिस पर कोर्ट आदेश दे। आप चाहे तो सरकार को ज्ञापन दे सकते हैं।’

जज ने कहा- माइक के पास आएं; वकील बोला- कोर्ट से आधा किमी ही दूर हूं, अभी पास आता हूं

जस्टिस एएम खानविलकर की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष मंगलवार को 12वीं कक्षा में कंपार्टमेंट वाले छात्रों के मामले की सुनवाई चल रही थी। इस दौरान जज को वकील विवेक तनखा की आवाज साफ सुनाई नहीं दे रही थी। जस्टिस ने कहा- ‘माइक के नजदीक आएं।’ जवाब में तनखा बोले ‘माय लॉर्ड, कोर्ट से आधा किमी दूर हूं। अभी कोर्ट के पास आ जाता हूं।’

0

Source link

Leave a Reply