ओएंडएम में साल में पानी-सीवरेज की 1604 शिकायतें 561 पेंडिंग, समस्या हल नहीं हुई तो पीड़ित ने छोड़ा घर

लुधियाना11 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

ढंडारी की गलियों में गंदा पानी जमा होने से नर्क जैसे हालात हैं।

  • निगम की वेबसाइट पर सालाना खर्च 36 लाख, फिर भी लोगों की गंदे पानी, सीवरेज जाम समेत कई समस्याओं की नहीं होती सुनवाई
  • सितंबर के 22 दिन में 29 शिकायतें, सिर्फ 6 हो पाईं हल

शहरवासियों को ऑनलाइन सुविधा देने के लिए निगम सालाना 36 लाख रुपए खर्च कर करता है। इससे घर बैठे लोग निगम वेबसाइट पर ऑनलाइन शिकायत या टैक्स जमा करवा सकते हैं। नतीजतन शिकायतें तो ऑनलाइन दर्ज हो रही हैं, लेकिन शिकायतों का निपटारा न होने से वेबसाइट फेल साबित हो रही है।

भास्कर ने निगम वेबसाइट पर ओएंडएम ब्रांच की ऑनलाइन शिकायतें जांची तो सामने आया कि पहली सितंबर 2019 से इस साल 22 सितंबर तक 1604 शिकायतें गंदा पानी आने, सीवरेज ब्लॉक, चेंबर टूटे होने समेत अन्य ओएंडएम ब्रांच से जुड़ी शिकायतें दर्ज हुईं। मगर अभी तक 561 शिकायतें ऑनलाइन पेंडिंग हैं। सितंबर की बात करें तो 22 दिन में ओएंडएम ब्रांच के पास 29 शिकायतें दर्ज हुई, इनमें से 23 पेंडिंग हैं। ऐसे में लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा रहा है।

पब्लिक स्पीक : कंप्लेंट पर 2 माह तक नहीं होती सुनवाई

केस-1: जोन-सी के वॉर्ड 30 के ग्यासपुरा के रहने वाले नाथ ने 1 सितंबर को ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराई थी, जिसका नंबर-328615 है। सीवरेज जाम की समस्या 2 माह से है। घर में ही सीवरेज बैक मारने लगा। समस्या हल न हुई तो उन्होंने वहां से रविवार को ही मकान शिफ्ट किया है, लेकिन समस्या जस की तस है।

केस-2: हफ्तेभर से सीवरेज चोक जोन-बी के वॉर्ड 16 में फोकल पॉइंट के कारोबारी एसके सिक्का ने 11 सितंबर शिकायत 329716 दर्ज करवाई। फैक्ट्री के बाहर सीवरेज चेंबर टूटा है। हफ्तेभर से चोक हो रहा है। शिकायत के बावजूद किसी ने कॉल तक नहीं की। सीवरेज जाम से आज भी वैसे ही हालात हैं।

केस-3: मुलाजिम तो आए पर समस्या बरकरार : जोन-ए के अधीन आनंदपुरा मोहल्ला के रमनदीप कौर ने ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराई। इसका नंबर-328676 है। इनके यहां पर गंदा पानी काफी समय सप्लाई हो रहा है। शिकायत करने पर मुलाजिम तो आए, लेकिन हल किया कुछ नहीं। आज भी उनके यहां पर गंदा पानी मिक्स होकर आ रहा है।

केस-4: घरों में सप्लाई नहीं हो रहा पानी: जोन-डी में आते जवद्दी खुर्द इलाके के हरप्रीत सिंह के मुताबिक पानी की समस्या आ रही है। इलाके में एक ही ट्यूबवेल होने से पीने की सप्लाई बहुत कम है, जबकि कई बार तो पानी ही नहीं आता है। उन्होंने 9 सितंबर को ऑनलाइन शिकायत दर्ज करवाई थी, लेकिन समस्या हल नहीं किया गया।

केस-5: लोगों ने खुद कराई सीवरेज सफाई: जोन-डी के वॉर्ड 77 के जेड ब्लॉक के पंकज कुमार ने 9 सितंबर को शिकायत 328704 दर्ज कराई। हालांकि इलाका इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के अधीन आता है, लेकिन उसका ये कहना था कि शिकायत के बावजूद हल नहीं मिला। आखिर परेशान होकर मोहल्ले वालों ने पैसे जुटा खुद ही सीवरेज को साफ करवाया है।

रोज इंस्पेक्टर से लेकर जेई, एसडीओ और एक्सईएन स्तर के अफसरों-मुलाजिमों के पास ऑनलाइन शिकायतों की सूची जाती है। इसकी पूरी रिपोर्ट फीडबैक के साथ मेरे पास आती है। कई मामलों में कामों के एस्टीमेट बनवाने पड़ते हैं, इस कारण देरी हो जाती है। -राजिंदर सिंह, एसई, ओएंडएम

0

Source link

Leave a Reply